Expand

दिल का रखें ख्याल…

दिल का रखें ख्याल…

- Advertisement -

पूरे विश्व में 29 सितंबर को हृदय दिवस घोषित किया गया है। यह दिल के दौरे के प्रति लोगों में जागरुकता उत्पन्न करने के लिए मनाया जाता है। हृदय रोग पूरे विश्व में अब तक एक गंभीर बीमारी के तौर पर उभरा है। इस बात ने इस मिथ को भी खत्म कर दिया है कि यह रोग सिर्फ बूढ़ों को ही होता है। इतनी रफ्तार वाली जिंदगी में लोग अपने स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दे पाते परिणामस्वरूप उन्हें इसका भारी खामियाजा भुगतना पड़ता है। तनाव, थकान और वातावरण में बढ़ रहे प्रदूषण से दिल को अपना काम करना मुश्किल होता है और वह सही तरीके से अपने काम को अंजाम नहीं दे पाता। हर साल दुनिया में होने वाली मौतों में 29 प्रतिशत मौतें दिल की बीमारियों और हार्टअटैक से होती हैं। इस बीमारी की सबसे बड़ी वजह है हमारी बदली हुई जीवनशैली और एक-दूसरे से आगे निकल जाने की होड़ के कारण उपजा तनाव।

heart5जाहिर है कि हम ख्वाहिशों के ऐसे चक्रव्यूह में फंस गए हैं कि तनाव से बच पाना कठिन ही है, पर फिर भी कुछ एहतियात बरते जाएं तो बचा जा सकता है। जहां तक हो सके तनाव से दूरी बनाए रखना चाहिए। इस समय भारत में लगभग10.2 करोड़ लोग दिल के मरीज हैं। अगर समय पर ध्यान नहीं दिया गया तो 2020 तक हर तीसरे व्यक्ति की मौत हार्टअटैक से होगी। हाई ब्लडप्रैशर और डायबिटीज का सही नियंत्रण न हो पाने से लोगों को दिल का दौरा जल्दी पड़ जाता है। दिल के दौरे की कोई तय उम्र नहीं है। यह समस्या सालों तक अंदर ही अंदर काम करती रहती है और एक दिन दिल के दौरे में बदल जाती है। इससे बचने के लिए जरूरी है कि अपने खान-पान और जीवनशैली में परिवर्तन करें। जंकफूड छोड़ें। समय पर नाश्ता और लंच लें। भोजन में वसा कम होनी चाहिए। नियमित व्यायाम करें और घंटों एक ही स्थिति में न बैठें। कम से कम 7 घंटे की नींद हर किसी के लिए आवश्यक है। धूम्रपान से दूर रहें अल्कोहल से भी बचने की कोशिश करें। प्रतिदिन कमसे कम आठसे दस ग्लास पानी पिएं। अगर इन सारी बातों पर ध्यान देंगे तो दिल के दौरे की संभावनाएं भी कम होंगी और तभी विश्वस्वास्थ्य संगठन का जागरुकता का यह अभियान सफल होगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है