Covid-19 Update

2,18,202
मामले (हिमाचल)
2,12,736
मरीज ठीक हुए
3,650
मौत
33,650,778
मामले (भारत)
232,110,407
मामले (दुनिया)

दबाव में झुका चीन: कोरोना का गढ़ रहे Wuhan ने जंगली जानवर खाने पर लगाया 5 साल का Ban

दबाव में झुका चीन: कोरोना का गढ़ रहे Wuhan ने जंगली जानवर खाने पर लगाया 5 साल का Ban

- Advertisement -

नई दिल्ली। दुनिया को अरबों का नुकसान और लाखों जानें लेने के बाद अब चीन ने वुहान (Wuhan) के मीट मार्केट को बंद कर दिया है। वुहान के नगर निगम के अनुसार, वहां जंगली जानवरों के व्यापार व उन्हें खाने पर 5 साल का प्रतिबंध (Ban) लगाया गया है। गौरतलब है, कोरोना वायरस वुहान से ही दुनियाभर में फैला था। वहीं, बिना वैध वजह के जंगली जानवरों का शिकार भी प्रतिबंधित किया गया है और शहर को ‘जंगली जंतु अभ्यारण्य’ बनाने की बात कही गई है। बताया जा रहा है कि कोरोना का सबसे पहले शिकार बने चीन के वुहान शहर ने आखिरकार इस त्रासदी से सीख ले ली है।

भेड़ियों के बच्चों, सलामांडर, सांप, मोर, कोआला जैसे जंगली जानवर भी बिकते थे


वहीं कुछ लोगों का मानना है कि आखिरकार दुनिया के दबाव में झुकते हुए चीन (China) ने यह कदम उठाया है। बता दें कि हुआनान सीफूड होलसेल मार्केट 1 जनवरी से बंद है। ऐसा अंदाजा लगाया गया था कि यहीं से कोरोना वायरस निकला और फिर दुनिया में फैल गया। सीफूड के अलावा यहां लोमड़ियों, घड़ियालों, भेड़ियों के बच्चों, सलामांडर, सांप, चूहों, मोर, स्याही, कोआला जैसे जंगली जानवर भी मिलते थे। ताजा आदेश के अनुसार जंगली जानवरों और उनके उत्पादों की खपत को प्रतिबंधित किया जाता है, जिसमें सभी स्थलीय वन्यजीव शामिल हैं।

कहा गया था कि वुहान की मीट मार्केट से ही कोरोना वायरस फैला है


वन्यजीव जानवर जो राष्ट्रीय और हुबेई प्रांतीय संरक्षण सूची में हैं। इनमें राष्ट्रीय महत्वपूर्ण संरक्षण के तहत कीमती जलीय जंगली जानवर और लुप्तप्राय जलीय जंगली जानवर भी शामिल हैं। वहीं ताजा आदेश के अनुसार मेडिकल संगठनों को रीसर्च के लिए जानवरों को हासिल करने के लिए लाइसेंस लेना होगा। जमीन के जानवरों और पानी के प्रोटेक्टेड जंगली जानवरों को खाए जाने के लिए आर्टिफिशल ब्रीडिंग की भी इजाजत नहीं होगी। गौरतलब है कोरोना वायरस के मामले सामने आने के बाद पहली बार तो यही कहा गया था कि वुहान की मीट मार्केट से ही कोरोना वायरस फैला है। पहली बार चमगादड़ से इसके फैलने की बात कही गई उसके बाद अन्य चीजें सामने आई, मीट मार्केट के बाद वुहान के वायरोलाजी लैब से इसके निकलने की बात कही गई मगर अब तक ये तय नहीं हो पाया है कि आखिर में ये वायरस कहां से निकला। इस पर अभी भी जांच चल रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है