Covid-19 Update

1,99,197
मामले (हिमाचल)
1,91,732
मरीज ठीक हुए
3,394
मौत
29,627,763
मामले (भारत)
177,191,169
मामले (दुनिया)
×

Corona संकट के बीच Action में योगी: बनाया सख्त कानून, बीमारी छिपाने पर भी सजा

Corona संकट के बीच Action में योगी: बनाया सख्त कानून, बीमारी छिपाने पर भी सजा

- Advertisement -

लखनऊ। देश भर में जारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर के बीच उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं। कोरोना वारियर्स (Corona Warriors) को लेकर बड़ा फैसला लेते हुए सीएम योगी ने उनकी सुरक्षा के लिए बेहद सख्त कानून बनाया है। नए कानून के तहत, स्वास्थ्य कर्मियों, सभी पैरा मेडिकल कर्मियों, पुलिस कर्मियों और स्वच्छता कर्मियों के साथ ही शासन की तरफ से तैनात किसी भी कोरोना वॉरियर के साथ अभद्रता या उन पर हमले करने पर छह माह से लेकर सात साल तक की सजा का प्रावधान किया गया है। इसके साथ ही पचास हजार से लेकर 5 लाख तक का जुर्माना भी लगाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: Pulwama में दो जगह मुठभेड़ – एक आतंकी ढेर, हिजबुल कमांडर रियाज नायकू घेरा

वहीं, कोरोना महामारी को देखते हुए क्वारंटाइन का उल्लंघन करने, अस्पताल से भागने और अश्लील वअभद्र आचरण करने पर पर एक से तीन साल की सजा और दस हजार से एक लाख तक का जुर्माना होगा। लॉक डाउन तोड़ने और कोरोना को फैलाने वालों के लिए भी कठोर सजा का प्रावधान है। इसके साथ ही चिकित्सकों, सफाई कर्मियों, पुलिस कर्मियों और किसी भी कोरोना वारियर्स पर थूकने या गंदगी फेंकने पर या आइसोलेशन नियम तोड़ने पर भी कड़ी कार्रवाई होगी। कोरोना वॉरियर्स के खिलाफ समूह को उकसाने या भड़काने पर भी सख्त कार्रवाई होगी। इसमें 2 से 5 साल तक की सजा और 50 हजार से 2 लाख तक जुर्माने का प्रावधान है। इस कानून ‘उत्तर प्रदेश लोकस्वास्थ्य एवं महामारी रोग नियंत्रण अध्यादेश 2020’ को योगी कैबिनेट ने पास भी कर दिया है।


यह भी पढ़ें: Lockdown में छह साल के बच्चे को लेकर भटकता रहा परिवार,नहीं मिली Oxygen -मौत

अध्यादेश के मुताबिक, अगर कोई कोरोना मरीज स्वयं को छिपाएगा या फिर जानबूझ कर सार्वजनिक परिवहन के माध्यम से यात्रा करता है तो तो उसे 1 से 3 साल की सजा हो सकती है और 50 हजार से एक लाख तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। नए अध्यायदेश के अनुसार सीएम की अध्यक्षता में एक राज्य महामारी नियंत्रण प्राधिकरण बनेगा, जिसमें मुख्य सचिव सहित सात अन्य अधिकारी सदस्य होंगे। दूसरा तीन सदस्यीय जिला महामारी नियंत्रण प्राधिकरण होगा, जिसके अध्यक्ष जिलाधिकारी होंगे। राज्य प्राधिकरण महामारी के रोकथाम नियंत्रण से संबंधित मामलों में सरकार को परामर्श देगा, जबकि जिला प्राधिकरण जिले में विभिन्न विभागों के क्रियाकलापों के साथ समन्वय स्थापित करेगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है