Covid-19 Update

2,17,403
मामले (हिमाचल)
2,12,033
मरीज ठीक हुए
3,639
मौत
33,529,986
मामले (भारत)
230,045,673
मामले (दुनिया)

70 साल से भी अधिक समय से बिना अन्न-जल के ज़िंदा रहने का दावा करने वाले योगी का निधन

70 साल से भी अधिक समय से बिना अन्न-जल के ज़िंदा रहने का दावा करने वाले योगी का निधन

- Advertisement -

अहमदाबाद। वैज्ञानिकों के लिए अपने अंत समय तक चुनौती बने गुजरात के योगी प्रह्लाद जानी (Prahalad Jani) अब हमारे बीच नहीं रहे। 70 साल से भी अधिक समय से बिना अन्न-जल लिए ज़िंदा रहने का दावा करने वाले योगी प्रह्लाद जानी उर्फ चुनरीवाला माताजी (90) का गांधीनगर (गुजरात) में निधन (Died) हो गया है। उनका दावा था कि अन्न-जल की इसलिए ज़रूरत नहीं क्योंकि देवी मां ने उन्हें जीवित रखा है। उनके दावे को 2003 और 2010 में वैज्ञानिकों ने भी परखा था।

जॉनी को 15 दिन तक 24 घंटे कैमरे की निगरानी में रखा गया था

साल 2010 में अहमदाबाद के स्टर्लिंग अस्पताल के चिकित्सकों ने रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के सहयोग से यह जानने के लिए शोध भी किया था कि कोई व्यक्ति इतने साल से बगैर कुछ खाए-पिए और बिना मल-मूत्र का त्याग किए कैसे जिंदा रह सकता है? लेकिन चिकित्सकों के हाथ कुछ भी नहीं लगा था।

यह भी पढ़ें: Rohru में कार खाई में गिरी, एक की गई जान- चार Hospital में भर्ती

जॉनी को 15 दिन तक 24 घंटे कैमरे की निगरानी में रखा गया था। हालांकि, इस दौरान यह दावा सही पाया गया था। 15 दिन में एक बार भी जॉनी कुछ खाते-पीते नजर नहीं आए थे। यह मानव शरीर के सिस्टम के लिहाज से किसी से चमत्कार से कम नहीं था।

जानी ने अपने पैतृक गांव चराड़ा में अंतिम सांस ली

उनके शिष्यों की ओर से जारी एक बयान के अनुसार जानी ने अपने पैतृक गांव चराड़ा में अंतिम सांस ली। गुजरात में बड़ी संख्या में उनके अनुयायी हैं। बयान में कहा गया है, ‘माताजी ने अपने मूल स्थान पर कुछ समय गुजारने की इच्छा प्रकट की थी जिसके बाद उन्हें कुछ दिन पहले चराड़ा ले जाया गया था। उन्होंने मंगलवार सुबह अंतिम सांस ली। उनका पार्थिव शरीर कुछ दिन के लिए उनके आश्रम में रखा जाएगा ताकि उनके अनुयायी उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर सकें। गुरुवार को उनके आश्रम में उन्हें समाधि दी जाएगी।’

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है