Covid-19 Update

2,16,430
मामले (हिमाचल)
2,11,215
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,381,728
मामले (भारत)
227,957,773
मामले (दुनिया)

108 Ambulance चालक के लिए यह कैसी लक्ष्मण रेखा, रात को बीच रास्ते छोड़ दी गर्भवती महिला

108 Ambulance चालक के लिए यह कैसी लक्ष्मण रेखा, रात को बीच रास्ते छोड़ दी गर्भवती महिला

- Advertisement -

धर्मशाला। 108 एंबुलेंस (Ambulance) चालक के लिए यह कैसी लक्ष्मण रेखा, जिससे की उसने एक गर्भवती महिला (Pregnant woman) और उसके परिजनों को बीच रास्ते ही छोड़ दिया। सीमा समाप्ति का हवाला देकर भड़वार के आगे जाने से इंकार कर दिया। अब सवाल यह उठता है कि क्या किसी व्यक्ति की जान से ज्यादा जरूरी सीमा है। बता दें कि बंदना कुमारी (27) पत्नी वीर सिंह गांव कोट पलाहड़ी तहसील नूरपुर (Nurpur) जिला कांगड़ा, जोकि प्रेग्नेंट थी, जिसको इसके परिजन पिछले कल शाम करीब 8 बजे डिलीवरी हेतु नूरपुर अस्पताल लाए थे।

यह भी पढ़ें: कोरोना ब्रेकिंगः Kangra जिला के जसाई गांव की 60 वर्षीय महिला निकली पॉजिटिव

अस्पताल में करीब ढाई घंटे रखने के बाद नूरपुर अस्पताल के डॉक्टर ने इसे टांडा मेडिकल कॉलेज (Tanda Medical College) के लिए रेफर कर दिया था। इस महिला के परिजन इस महिला को 108 एंबुलेंस में बैठाकर करीब 11:30 बजे रात टांडा के लिए ले गए, लेकिन 8 किलोमीटर चलने के बाद एंबुलेंस के ड्राइवर (Driver) ने एंबुलेंस को रोक दिया तथा कहा कि अब मेरी सीमा समाप्त होती है, इससे आगे वह नहीं जा सकता, उसने गर्भवती महिला तथा उसके परिजनों को भड़वार नामक स्थान पर उतार दिया तथा वापस नूरपुर आ गया।

प्रसूति की पीड़ा में एक घंटा भड़वार में ही बैठी रही महिला

प्रसूति की पीड़ा से पीड़ित यह महिला रात के अंधेरे में करीब एक घंटा भड़वार में ही बैठी रही। एक घंटे के बाद उसके परिजनों द्वारा एक प्राइवेट गाड़ी का इंतजार किया गया तथा उसे करीब 1:30 बजे टांडा मेडिकल अस्पताल में पहुंचाया गया। जहां पर जाते ही महिला की नॉर्मल डिलीवरी हुई तथा उसने एक बेटी को जन्म दिया।

यह भी पढ़ें: Hamirpur : बच्ची को बचाते मां पर गिरी आसमानी बिजली, टांगों में लगी चोट

दोनों मां- बेटी तंदुरुस्त हैं, लेकिन नूरपुर अस्पताल तथा 108 एंबुलेंस सेवा के प्रति महिला के गांव कोटपलाहड़ी में इस बात को लेकर भारी रोष है कि एक नॉर्मल डिलीवरी (Normal Delivery) के लिए डॉक्टरों ने नूरपुर अस्पताल से टांडा के लिए रेफर क्यों कर दिया। अगर रेफर कर ही दिया तो रात के अंधेरे में इस महिला को 8 किलोमीटर के बाद भड़वार नामक स्थान पर क्यों उतार दिया। इस संबंध में कोटपलाहड़ी पंचायत की प्रधान लज्जा देवी ने सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) को एक पत्र लिखकर इसकी जांच करवाने के आदेश जारी करने की अपील की है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है