Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

शादियों में नियमों के उल्लंघन पर हो कड़ी कार्रवाई, Field Officer से रोज रिपोर्ट लें DC

सीएम जयराम ठाकुर ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से बैठक के दौरान दिए निर्देश

शादियों में नियमों के उल्लंघन पर हो कड़ी कार्रवाई, Field Officer से रोज रिपोर्ट लें DC

- Advertisement -

शिमला। राज्य के सभी जिला अधिकारियों व अन्य फील्ड अधिकारियों को कोरोना (Corona) वायरस को फैलने से रोकने के लिए सामाजिक समारोह, विवाह इत्यादि में अधिकतम 50 लोगों की निर्धारित संख्या का पालन करने के संबंध में जारी मानक संचालक प्रक्रिया का प्रभावी कार्यान्वयन सुनिश्चित करना चाहिए। यह बात सीएम जयराम ठाकुर ने आज यहां से वीडियो कांफ्रेंस (Video Conference) के माध्यम से डीसी (DC), एसपी, सीएमओ (CMO), एसडीएम, तहसीलदारों, नायब तहसीलदारों और बीडीओ (BDO) के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही।

यह भी पढ़ें: Himachal में #Corona को लेकर और सख्ती, क्या बोले जयराम ठाकुर-जानिए

सीएम ने कहा कि राज्य में कोविड-19 (Covid-19) रोगियों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है, जिसका कारण एक रिपोर्ट के अनुसार सामाजिक कार्यों जैसे विवाह, धार्मिक कार्यों आदि में बड़ी संख्या में एकत्रित होना बताया गया है। उन्होंने फील्ड अधिकारियों को निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए कि उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि सभी डीसी को राज्य में आयोजित किए जाने वाले समारोह के संबंध में अपने संबंधित क्षेत्र से फील्ड अधिकारियों (Field Officer) से प्रतिदिन रिपोर्ट लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को समारोह से पहले परिवारों की काउंसलिंग सुनिश्चित करनी चाहिए ताकि ऐसे समारोह में 50 से अधिक लोगों के शामिल ना किए जाने के लिए प्रेरित किया जा सके। उन्होंने तहसीलदारों और नायब तहसीलदारों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में विवाह और अन्य सामाजिक कार्यों की प्रतिदिन निगरानी सुनिश्चित करें।


 

यह भी पढ़ें: राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 को लेकर क्या बोले #CMJaiRamThakur-जानिए

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि चिकित्सक द्वारा घरों में उपचाराधीन मरीजों के के स्वास्थ्य का हाल जानने के लिए उनके साथ दूरभाष पर बात करने के लिए प्रभावी तंत्र विकसित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों और पैरा मेडिकल स्टाफ को घरों में आइसोलेट मरीजों की स्वास्थ्य स्थिति और पैरामीटर का प्रतिदिन रिकॉर्ड रखना होगा, जिससे उनके उपचार में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि ऐसे रोगियों की नियमित और प्रतिदिन निगरानी मरीजों के स्वास्थ्य मापदंडों के बारे में प्रभावी रूप से जानकारी देने व उनके मनोबल को बढ़ाने में भी मदद करेगी। उन्होंने कहा कि घरों में आइसोलेशन में रह रहे लोगों को सैनेटाइजर उपलब्ध करवाया जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि मरीज के नेगेटिव (Negtive) आने के उपरांत घर और आसपास के क्षेत्र का भी उचित सैनेटाइजेशन किया जाए।

यह भी पढ़ें: #Corona संकट के बीच #JaiRamThakur की पांवटा साहिब को 94 करोड़ की सौगातें

सीएम ने कहा कि इस वायरस से लड़ने के लिए घरों में उपचाराधीन कोविड मरीजों का मनोबल बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के माध्यम से टेलीफोन कॉल भी किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस संबंध में लापरवाही करने वाले अधिकारियों के खिलाफ राज्य सरकार कड़ी कार्रवाई करने में संकोच नहीं करेगी। जयराम ठाकुर ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि घरों में उपचाराधीन मरीजों को जरूरत पड़ने पर अस्पताल में शिफ्ट करने के लिए कोविड-19 मरीजों को उचित एंबुलेंस और परिवहन सुविधा के अभाव में परेशानी का सामना ना करना पड़े। उन्होंने कहा कि विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में मरीजों की सुविधा के लिए अतिरिक्त वाहन तैनात किए गए हैं।

यह भी पढ़ें: #JaiRam बोले- राष्ट्रपति की मंजूरी को भेजा जाएगा धार्मिक स्वतंत्रता कानून

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल (Health Minister Dr. Rajiv Saizal) ने कहा कि वायरस के फैलने को रोकने के लिए कांटेक्ट ट्रेसिंग पर अधिक बल दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारियों और खंड स्वास्थ्य अधिकारियों को अधिक से अधिक क्षेत्र का दौरा सुनिश्चित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि घरों में उपचाराधीन कोरोना मरीजों को स्वास्थ्य किट में काढ़ा भी उपलब्ध करवाया जाना चाहिए, जिससे मरीजों की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद मिलेगी। मुख्य सचिव अनिल खाची ने कहा कि सामाजिक कार्यक्रमों में मेहमानों की संख्या प्रभावी तरीके से निर्धारित करने के लिए फील्ड अधिकारियों को एक सामान्य फॉरमेट उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी आयोजनों से पूर्व काउंसलिंग की जरूरत होती है ताकि लोग स्वेच्छा से 50 से अधिक मेहमानों को आमंत्रित करने से बचें। उन्होंने कहा कि मरीजों और चिकित्सकों के बीच बेहतर ताल-मेल के लिए घरों में उपचाराधीन मरीजों की मैपिंग की गई है। सचिव स्वास्थ्य अमिताभ अवस्थी ने कहा कि होम आइसोलेशन में चिकित्सकों और कोविड मरीजों के बीच बेहतर संचार स्थापित करने के लिए डेडिकेटिड हेल्पलाइन प्रदान की जाएगी।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है