Covid-19 Update

2,21,936
मामले (हिमाचल)
2,16,814
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,126,682
मामले (भारत)
242,810,096
मामले (दुनिया)

दोबारा संक्रमित हो रहे #Corona_Patient, 89 वर्षीय डच महिला की मौत ने बढ़ाई चिंता

भारत में कोरोना वायरस से दोबारा संक्रमण के तीन मामले मिले

दोबारा संक्रमित हो रहे #Corona_Patient, 89 वर्षीय डच महिला की मौत ने बढ़ाई चिंता

- Advertisement -

नई दिल्ली। एक तरफ दुनिया कोरोना की वैक्सीन का इंतजार कर रही है दूसरी तरफ ये महामारी अलग-अलग रूप दिखा रही है जिसे समझना मुश्किल होता जा रहा है। कहा जा रहा था कि एक बार कोरोना वायरस (Coronavirus) से ठीक हुआ व्यक्ति दोबारा संक्रमित नहीं हो सकता। लेकिन अब ये दावा भी गलत साबित हो रहा है लोग दोबारा संक्रमित हो रहे हैं और ऐसा माना जा रहा है कि एक 89 वर्षीय डच महिला कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद मरने वाली दुनिया की पहली व्यक्ति बन गई है। वहीं भारत में भी लोग दोबारा संक्रमित हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें: #Corona Update: हिमाचल में 184 मामले और 311 रिकवर- दो की मृत्यु

 

डच महिला की बात करें तो वह कैंसर का इलाज करवा रही थी। कोविड-19 के परीक्षण के बाद पहली बार पॉजिटिव (Positive) पाए जाने पर जब अस्पताल गईं तो उन्हें बुखार और बहुत बुरी खांसी थी। महिला के ये लक्षण गायब हो गए और वह पांच दिनों के बाद घर चली गई। वह 59 दिनों बाद उसी लक्षण के साथ अस्पताल दोबारा लौटीं। वह कोविड-19 के टेस्ट में फिर से पॉजिटिव पाई गईं और तीन सप्ताह बाद उसकी मौत हो गई। उसकी रिपोर्ट तैयार करने वाले डॉक्टरों ने कहा कि कोरोना वायरस टेस्ट के दोनों परीक्षणों के लिए लिए गए नमूने आनुवंशिक रूप से अलग थे। उन्होंने दावा किया, “इसकी संभावना है कि लंबे समय तक बीमार रहने की बजाय वह फिर से संक्रमित हुई हों।” यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब अमेरिका में डॉक्टरों ने नेवादा में 25 वर्षीय व्यक्ति की बीमारी का हवाला देते हुए कोरोना वायरस से दोबारा संक्रमित होने के पहले मामले की पुष्टि की है।

 

 

वहीं, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने कहा कि देश में कोरोना वायरस से दोबारा संक्रमण के तीन मामले मिले हैं। इनमें से दो केस मुंबई और अहमदाबाद में एक केस सामने आया है। आइसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि दोबारा संक्रमित होने की समय सीमा 100 दिन तय की गई है। कई अध्ययनों में भी यह सामने आया है कि एक बार संक्रमित होने वाले व्यक्ति के शरीर में आमतौर पर चार महीने तक एंटीबॉडीज मौजूद रहती है। भार्गव ने कहा कि दोबारा संक्रमण एक समस्या है, जो पहली बार हांगकांग में सामने आया था। उन्होंने कहा डब्ल्यूएचओ की तरफ से हमें कुछ डाटा मिला है, जिसमें दुनियाभर में दोबारा संक्रमण के दो दर्जन मामलों का जिक्र है। दोबारा संक्रमित होने वाले लोगों से टेलीफोन पर बात कर कुछ डाटा एकत्र करने की कोशिश की जा रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है