Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

किसानों को Trained करेंगे गांव के पढ़े-लिखे बेरोजगार, दिया जाए प्राकृतिक कृषि का प्रशिक्षण

किसानों को Trained करेंगे गांव के पढ़े-लिखे बेरोजगार, दिया जाए प्राकृतिक कृषि का प्रशिक्षण

- Advertisement -

शिमला। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय (Governor Bandaru Dattatreya) ने राज्य में प्राकृतिक कृषि को व्यापक स्वरूप प्रदान करने के लिए प्रशिक्षण केंद्र (Training Center) स्थापित करने और प्राकृतिक उत्पाद के लिए विपणन व्यवस्था सुचारू बनाने की आवश्यकता पर बल दिया है। राज्यपाल ने आज राजभवन में सुभाष पालेकर प्राकृतिक कृषि परियोजना के अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श करते हुए कहा कि प्राकृतिक कृषि को व्यापक स्तर पर प्रोत्साहित करने के लिए यह जरूरी है कि ग्रामीण क्षेत्रों (Rural areas) के पढ़े-लिखे बेरोजगारों को प्रशिक्षित किया जाए, जो किसानों को प्रशिक्षण देंगे। उन्होंने कहा कि इन प्रशिक्षित युवाओं को प्रमाणपत्र देकर प्रोत्साहित किया जा सकता है। साथ ही, इनके लिए कुछ प्रोत्साहन राशि भी प्रस्तावित की जा सकती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 


राज्य में करीब 55 हजार किसान कर रहे प्राकृतिक कृषि

राज्यपाल ने कहा कि ऐसे गांव व पंचायतों को चिन्हित किया जाना चाहिए, जहां पूरी तरह से हर परिवार प्राकृतिक कृषि (Natural agriculture) को अपना रहा है। राज्यपाल ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य में करीब 55 हजार किसान प्राकृतिक कृषि कर रहे हैं और 2579 हैक्टेयर क्षेत्र इसके तहत लाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा सजग हुए हैं। प्राकृतिक उत्पाद का बाजार बहुत बड़ा होने वाला है। उन्होंने कृषि और बागवानी विभागों को साथ मिलकर इस दिशा में कार्य करने के लिए कहा, जिससे किसानों की आय दोगुनी करने में मदद मिलेगी। इस अवसर पर, सुभाष पालेकर प्राकृतिक कृषि परियोजना निदेशक राकेश कंवर ने कार्य योजना की विस्तृत जानकारी दी। इस कृषि पद्धति के तहत 72 हजार किसानों को प्रशिक्षित किया जा चुका है और प्रदेश की 2934 पंचायतों तक पहुंच सुनिश्चित बनाई गई है। परियोजना के कार्यकारी निदेशक डॉ राजेश्वर चन्देल ने प्राकृतिक कृषि पर प्रस्तुतिकरण भी दिया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है