Covid-19 Update

1,99,430
मामले (हिमाचल)
1,92,256
मरीज ठीक हुए
3,398
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

Budget session : राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में धारा 370 को खत्म करने का किया स्वागत

Budget session : राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में धारा 370 को खत्म करने का किया स्वागत

- Advertisement -

लेखराज घरटा/शिमला। हिमाचल विधानसभा के बजट सत्र (Himachal Budget session) की शुरुआत राज्यपाल के अभिभाषण के साथ हुई। राज्यपाल ने सरकार के कार्यों का ब्यौरा सदन में रखा है। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने अपने अभिभाषण (Governor address) में कहा कि धारा 370 को खत्म करके पूरे देश में एक संविधान एक एक झंडा लागू किया है। केंद्र सरकार ने सीएए लागू कर भी अच्छा काम किया है। प्रदेश सरकार इन निर्णयों के स्वागत करती है। जल जीवन मिशन का भी राज्यपाल ने स्वागत किया और कहा कि इससे प्रदेश वासियों को लाभ होगा। प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं का जिक्र करते हुए राज्यपाल ने कहा कि इन दो वर्षों में प्रगति और सिद्धान्त के अनुरूप रहे पर प्रदेश सरकार ने अधिकांश चुनावी वादों को पूरा कर दिया है इसी का परिणाम है कि लोकसभा और उप चुनावों में लोगों का सहयोग मिला है।

यह भी पढ़ें: Vipin Parmar ने विधानसभा अध्यक्ष का नामांकन भरा, जयराम रहे मौजूद


मुख्यमंत्री जन संपर्क हेल्पलाइन के माध्यम से जनता की समस्याओं का समाधान किया है। इसके अलावा जनमंच के माध्यम से भी मौके पर समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन योजना के अंतर्गत अब तक 45 हजार शिकायतें आई हैं जिसमें से 91% निपटारा कर लिया है। हिमाचल प्रदेश में गृहिणी सुविधा योजना के माध्यम से 276 हजार परिवार को निशुल्क गैस आबंटित की है। आर्थिक रूप से प्रदेश को मजबूत को करने के लिए सरकार ने धर्मशाला में ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट का आयोजन किया गया जिसमें कृषि और बागवानी के क्षेत्र को विकसित करने के लिए निवेशकों ने रुचि दिखाई है। 1 लाख 96 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। निवेशकों के साथ कुल 97 हजार करोड़ रुपये के 736 एमओयू साइन किये हैं।

 

राज्य में प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना शुरू की है। मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना की शुरू की है जिससे बीते वर्ष 1 हजार 230 किसान लाभान्वित हुए हैं। खुंभ योजना शुरू की गई है जिसमें 5 करोड़ के बजट का प्रावधान किया गया है और चालू वित्त वर्ष में 40 खुम्भ उत्पादन करने वाले किसानों को खुम्भ उद्योग स्थापित करने के लिए मदद की गई है। मनरेगा के तहत चालू वित्त वर्ष में 36,942 कार्य पूरे किए गए हैं। 491 करोड़ का चालू वित्त वर्ष में खर्च किया गया है जिसमें से 57 प्राकृतिक संसाधन और संवर्धन में किया गया है। मुख्यमंत्री आवास योजना के माध्यम से 12 करोड़ 49 लाख की लागत से 558 आवासों का निर्माण किया जा रहा है। नशाखोरी को खत्म करने के लिए सरकार ने अभियान छेड़ा है। सरकार ने पंजाब हरियाणा सरकार के साथ विशेष रणनीति बनाई है। राज्य में नशे की तस्करी को रोका जा रहा है। सरकार ने नशा निवारण नियंत्रण बोर्ड का गठन भी किया। टोल फ्री नंबर भी शुरू किया गया जिसके माध्यम से लोग नशे से जुड़े जानकारी पुलिस को दे सकती है। गुड़िया हेल्पलाइन शुरू की गई है जिसमें अभी तक कुल 165 एफआईआर दर्ज की गई हैं।

सरकार पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए पर्याप्त कार्य कर रही

राज्यपाल ने कहा कि सरकार पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए पर्याप्त कार्य कर रही है। पर्यटन नीति को अधिसूचित किया गया है। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अंतर्गत 40 हजार से बढ़ाकर 51 हजार किया गया है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायकों का मानदेय भी बढ़ाया गया है। समाज के पिछड़े वर्ग के विकास के लिए सरकार वचनबद्ध है। नए मकान बनाने और मरमत करने के लिए सरकार मदद कर रही है। प्रधानमंत्री मानदेय जन धन योजना को भी प्रदेश में शुरु की गई है। संस्कृत भाषा को दूसरी राजभाषा का दर्जा किया गया है। प्रदेश में खेल को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री खेल विकास योजना के अंतर्गत प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में खेल मैदान विकसित करने के लिए 6 करोड़ 80 लाख का बजट है जिसमें से अढ़ाई करोड़ खर्च कर लिया गया है।

डॉक्टरों की कमी को पूरा करने के लिए 538 की नियुक्ति की गई

आयुष्मान भारत और प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के माध्यम से 49 हजार 685 लोगों का निशुल्क चिकित्सा सहायता दी गई है। गंभीर बीमारियों से पीड़ित व्यक्तियों की आर्थिक सहायता करने के लिए मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता कोष का गठन किया गया है जिसमें 312 लाभार्थियों को 5 करोड़ 75 लाख की वित्तीय सहायता दी गई है।सहारा योजना के माध्यम से गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 3 हजार लोगों को 2 हजार रुपये प्रति माह दिया जा रहा है। प्रदेश में डॉक्टरों की कमी को पूरा करने के लिए सरकारी व निजी क्षेत्र में एमबीबीएस की 870 सीटें और स्नातकोत्तर स्तर की 253 सीटें आबंटित की गई हैं। वित्त वर्ष में 538 चिकित्सा अधिकारियों की नियुक्ति की गई है। सरकार ने एक बूटा बेटी के नाम योजना शुरू की है योजना के अंतर्गत प्रदेश में पैदा होने वाली बेटियों के परिजनों को 5 वानिकी प्रजाति के लंबे पौधे एवम उनके रख रखाव के लिए एक किट दी जा रही है।

नई पेंशन प्रणाली के तहत सरकार के अंशदान को बढ़ाकर 14 फीसदी किया

केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत मिशन के प्रदेश में 54 शहरी स्थानीय निकायों में 53 को भारत सरकार ने खुला शौच मुक्त प्रमाणित किया है मिशन के अंतर्गत इस वर्ष प्रदेश के शहरों में 1 हजार 190 व्यक्तिगत घरेलू शौचालय का निर्माण किया गया है। सरकार ने राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के अंतर्गत 179 स्वयं सहायता समूहों और 2 क्षेत्र स्तरीय फेडरेशन का गठन किया गया है स्वरोजगार कार्यक्रम के तहत 125 लाभार्थी को लाभान्वित किया गया है। स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत शिमला शहर को 34 करोड़ रुपये की धनराशि उपलब्ध करवाई गई है। सरकार ने कर्मचारियों व पेंशनरों के लिए पहली जनवरी 2019 से 4 फीसदी अतिरिक्त महंगाई भत्ता दिया गया है। नई पेंशन प्रणाली के तहत सरकार के अंशदान को 10 से बढ़ाकर 14 फीसदी किया गया है। सरकार ने विभिन्न विभागों में अलग-अलग श्रेणियों के 4 हजार 278 को सृजित करने और 15 हजार 315 पदों को भरने की स्वीकृति प्रदान की है जबकि 4 हजार पद एचआरटीसी में भरने की स्वीकृति दी गई है। राज्यपाल का अभिभाषण 2 घंटा 10 मिनट तक चला।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है