Covid-19 Update

2,63,113
मामले (हिमाचल)
2,45, 890
मरीज ठीक हुए
3936*
मौत
40,085,116
मामले (भारत)
359,251,319
मामले (दुनिया)

हिमाचली उद्योगपति श्री बद्रीनाथ व श्री केदारनाथ मंदिर समिति में नामित

देश के दानवीर उद्योगपतियों में गिने जाते हैं महिंद्र

हिमाचली उद्योगपति श्री बद्रीनाथ व श्री केदारनाथ मंदिर समिति में नामित

- Advertisement -

उत्तराखंड सरकार ने हिमाचली उद्योगपति महिंद्र शर्मा को श्री बद्रीनाथ ( Shri Badrinath) व श्री केदारनाथ (Shri Kedarnath) मंदिर समिति में सदस्य नामित किया है। 61 वर्षीय महिंद्र शर्मा जिला ऊना के बढेड़ा राजपूतां से संबंध रखते हैं। वह नई दिल्ली के इस्कॉन मंदिर की नवीकरण ध्पुनरद्धार समिति के वाइस चेयरमैन हैं और यमुना नदी के पुनर्रुद्धान के लिए गठित हरी यमुना समिति के उपाध्यक्ष भी हैं। उनकी गणना देश के दानवीर उद्योगपतियों में की जाती है।

यह भी पढ़ें-Breaking: टीचर नहीं जाएंगे स्कूल,अब ऐसे होगा पढ़ाई का अगला दौर-पढ़े डिटेल

उनकी कंपनी देश भर में राष्ट्रीय महत्व की इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण होटल एंड फूड प्रोसेसिंग, शिक्षा व रियल एस्टेट की अनेक परियोजनाओं का निर्माण कर रही है। उत्तराखंड सरकार द्वारा उन्हें हिंदू धार्मिक मामलों में विशेष रूचि रखने वाले दानदाताओं की श्रेणी में इस प्रतिष्ठित मंदिर समिति में मनोनीत किया गया है, जोकि हिन्दुओं के पावन स्थलों के प्रबंधन का कार्य देखते हैं। महिंद्र शर्मा अनेक धार्मिक और सामाजिक संस्थाओं से जुड़े हैं, जो कि समाज के दबे कुचले व गरीब और पिछड़े वर्ग के सामाजिक आर्थिक उत्थान के लिए निरंतर कार्य कर रही हैं। वह नई दिल्ली के इस्कॉन मंदिर की नवीकरण पुनरुद्धार समिति के वाइस चेयरमैन हैं, जो कि मंदिर की साज सज्जा का कार्य देख रही है।

वह दिल्ली में देश भर से एम्स जैसे अस्पतालों में अपना इलाज करवाने आए गरीब रोगियों को दवाई, उपकरण और खान-पान की सुविधा उपलब्ध करवाते हैं। वह दिल्ली के अस्पतालों के बाहर गरीब रोगियों और उनके परिजनों को पौषाहार प्रदान करने के लिए लंगर चलाते हैं। इसके अलावा वह मैसूर में एड्स से पीड़ित स्ट्रीट चिल्ड्रन्स के इलाज के लिए आशा किरण अस्पताल को नियमित रूप से आर्थिक सहायता प्रदान करते हैं। उन्होंने श्री केदारनाथ के गर्भगृह में चांदी के आचरण के कार्य को सम्पन्न करने के लिए दो करोड़ रुपए दान दिए। उन्होंने माता चिंतपूर्णी मंदिर में भी चांदी के आचरण के कार्य को सम्पन्न करने के लिए दो करोड़ खर्च किए। वह हरी यमुना सहयोग समिति के वाइस चेयरमैन हैं, जो कि पावन यमुना नदी की सफाई व यमुना तटों पर पौधरोपण और यमुना नदी में प्रदूषण कम करने सहित अनेक विकास और धार्मिक महत्व की परियोजनाओं पर कार्य कर रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है