Covid-19 Update

58,457
मामले (हिमाचल)
57,233
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,045,587
मामले (भारत)
112,852,706
मामले (दुनिया)

Holi: हर बार हर्बल कलर इस्तेमाल करने की सोचते हैं, तो इस बार खुद ही घर पर बना लें

Holi: हर बार हर्बल कलर इस्तेमाल करने की सोचते हैं, तो इस बार खुद ही घर पर बना लें

- Advertisement -

नई दिल्ली। होली (Holi) का त्योहार आज से 10 दिन बाद यानि 10 मार्च को है। तो ऐसे में अगर आप उन लोगों में से हैं, जो हर साल होली नजदीक आने पर ये सोचते हैं कि इस बार हर्बल कलर (Herbal Color) से होली खेलेंगे और रंग ना मिल पाने के कारण होली के दिन हरे कलर के सिंथेटिक रंग में डूबे नजर आते हैं। तो चलिए इस बार हम आपकी इस मनोकामना को पूरा करने का का रास्ता बताने जा रहे हैं। जी हां आज हम आपको घर पर भी हर्बल रंग बनाने की विधि बताने जा रहे हैं। तो आइए जानते हैं किस तरह घर पर बड़ी आसानी और काम मेहनत से हर्बल कलर बनाया जा सकता है। जो आपकी होली और भी रंगीन, नेचुरल और खुशगवार बना देगा..

यह भी पढ़ें: बाजार का सिंदूर आपको कर सकता है बीमार, जानिए घर पर कैसे बनाएं

  • हरा रंग: नीम की पत्तियों को पीसकर तैयार हुआ पेस्ट से हरा रंग बना सकते हैं। इस पेस्ट को पानी में मिलाकर की रंग खेला जा सकता है। यह फेसपैक की तरह भी काम करेगा। वहीं नीम की पत्तियों को सुखाकर इसके पाउडर को भी गुलाल की तरह लगाया जा सकता है। मेंहदी का प्रयोग भी कर सकते हैं।

 

 

  • लाल रंग: इस मौसम में चुकंदर आसानी से उपलब्ध है। इसे घिसकर पानी में उबाल लें और लाल रंग तैयार है। गहरा पिंक रंग चाहते हैं तो इसमें पानी ज्यादा मिलाएं। इसके अलावा इसे पीसकर पेस्ट भी बना सकते हैं। गुड़हल फूलों के पत्तों के पाउडर को आटे के साथ मिलाने से लाल रंग बन जाता है।

 

 

  • पीला रंग: पीला रंग तैयार करने के लिए हल्दी को जौ या मक्के के आटे में मिलाकर पेस्ट बना सकते हैं। इसे रंग की तरह इस्तेमाल करें। हल्दी को आरारोट या चावल के पाउडर में भी मिलाकर इस्तेमाल किया जा सकता है। गेंदे के फूलों के पत्तों को पानी में उबालकर पिचकारी के लिए पीला रंग बना सकते हैं।

 

 

  • केसरिया रंग: केसरिया बनाने के लिए गेंदे के फूलों का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा 100 ग्राम पलाश के सूखे फूल को एक बाल्टी पानी में उबाल कर या वैसे ही भिगो कर रात भर रखें। सवेरे इसे छान लें। बाल्टी भर गाढ़ा केसरिया रंग तैयार है।

 

 

  • नारंगी रंग: पानी में केसर या मेहंदी मिलकर नारंगी रंग बन जाता है। इसी तरह अनार के दाने पानी में मिलाकर गुलाबी रंग का पानी बन जाता है।

 

 

  • मैजेंटा रंग: एक चुकंदर लें और उसे पीस लें और इसे आटे में मिला लें इससे मेजेंटा रंग मिल जाएगा और यदि उसमें पानी मिला लें तो आपको खूबसूरत गीला मैजेंटा कलर मिल जाएगा। अगर आप इस रंग को और गहरा बनाना चाहते हैं तो उसे उबाल लें या फिर पूरी रातभर ऐसे ही छोड़ दें।

 

 

  • हर्बल वाटर कलर: टेसू फूलों से आप बड़ी आसानी से रंगीन पानी बना सकते हैं। 100 ग्राम टेसू के फूल लें और उसे पानी के बाउल में एक रात के लिए रख दें। अगले दिन आपको खूबसूरत केसरी पानी तैयार मिलेगा।

 

 

  • हर्बल ड्राई कलर: थोड़ा सा चावल का आंटा लें और उस में फूड कलर और 2 चम्मच पानी मिला दें। आपका हर्बल ड्राई कलर तैयार है।

 

 

  • हर्बल गुलाल: 200 ग्राम अरारोट पाउडर लें और उस में 100 ग्राम हल्दी, 50 ग्राम गेंदे के फूल, 20 ग्राम संतरे के छिल्के और 20 नींबू के रस की बूंदें मिला लें। फिर उस सामग्री को एक बड़े बर्तन में डालें और अपने हाथों से मिक्स करें। थोड़ी ही देर में पीले रंग का गुलाल तैयार हो जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है