×

कांगड़ा: 15000 लोग होम क्वारंटाइन में, पालमपुर का VMRT बनेगा Corona अस्पताल

कांगड़ा: 15000 लोग होम क्वारंटाइन में, पालमपुर का VMRT बनेगा Corona अस्पताल

- Advertisement -

धर्मशाला। जिला कांगड़ा (Kangra) में 15000 लोगों को होम क्वारंटाइन (Home quarantine) में रहने के निर्देश दिए गए हैं ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। यह जानकारी बुधवार को डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने दी। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वह होम क्वारंटाइन के दिशा निर्देशों का उल्लंघन ना करें तथा घरों में ही रहकर खुद तथा परिवार और समाज को सुरक्षित रखने में अपना योगदान दें। उन्होंने कहा कि अगर किसी को भी आदेशों की अवहेलना करने वालों की जानकारी मिलती है तो तुरंत टोल फ्री नंबर 1077 पर सूचना दें। वहीं, उन्होंने बताया कि जरूरत पड़ने पर पालमपुर के विवेकानंद मेडिकल रिसर्च ट्रस्ट (वीएमआरटी) के अस्पताल को कोरोना अस्पताल के रूप में विकसित किया जाएगा। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग तथा प्रशासन की टीम ने वीएमआरटी में उपलब्ध सुविधाओं का निरीक्षण भी किया है।


यह भी पढ़ें: Himachal में 1 से 8 जून तक सेना की खुली भर्ती, इन तीन जिलों के युवाओं को मिलेगा मौका

डीसी राकेश प्रजापति ने कहा कि सभी उपमंडलाधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि धार्मिक सद्भाव बनाए रखने के लिए अपने अपने स्तर पर समाज को प्रेरित करें तथा किसी भी स्तर पर धार्मिक सद्भाव को प्रभावित करने वाली किसी भी तरह की अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ भी सख्ती से निपटा जाए। राकेश प्रजापति ने कहा कि सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर झूठी अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई करने का प्रावधान किया गया है तथा सभी नागरिकों को सोशल मीडिया या फेक न्यूज पोस्ट करने से बचना चाहिए। डीसी कहा कि सभी उपमंडलाधिकारियों तथा पुलिस उप अधीक्षकों को दिशा निर्देश दिए गए हैं कि कर्फ्यू के दौरान अपने अपने उपमंडलों में विभिन्न स्थानों का निरीक्षण करें तथा कर्फ्यू की अवेहलना करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाएं। इसके साथ ही कर्फ्यू के ढील के समय में भी दुकानोंए बैंकों के बाहर लोगों को सामाजिक दूरी के दिए गए निर्देशों की अनुपालना सुनिश्चित हो रही है इसका भी निरीक्षण करें तथा आदेशों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाए।

सीमांत क्षेत्रों के बैरियर पर चालकों का होगा चेकअप
डीसी राकेश प्रजापति ने कहा कि सीमांत क्षेत्रों एवं टोल बैरियर पर वाहनों को सेनिटाईज करने की सुविधा प्रदान की गई है इसके साथ ही गुड्स कैरियर तथा अन्य वाहनों के चालकों का चेकअप करने की सुविधा भी प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि अन्य जिलों तथा बाहरी राज्यों के लोगों के कांगड़ा आने पर पूर्णतयः रोक लगाई गई है। उन्होंने कहा कि अगर कोई सीमा में प्रवेश करता हुआ पाया गया तो सीमांत क्षेत्रों में स्थापित क्वांरटीन केंद्रों में उन लोगों को रखा जाएगा।

 

 

जिला में आवश्यक खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति

डीसी राकेश प्रजापति ने बताया कि 08 अप्रैल को कांगड़ा जिला में 14 गाड़ियां ब्रेड की, 253 सब्जियों के वाहन, दूध की तथा 47 गाड़ियां रसोई गैस की, अनाज की 290 गाड़ियों तथा मेडिसन की 67 वाहनों के माध्यम से आपूर्ति की गई है। पंजाब की सब्जी मंडियों से राशन की सुचारू आपूर्ति हो रही है। उन्होंने कहा कि खाद्य निगम के गोदामों में राशन का आवश्यक स्टाक उपलब्ध है। अतः किसी भी उपभोक्ता को दैनिक आवश्यकता की वस्तुओं की खरीद के लिए हड़बड़ी करने की जरूरत नहीं है तथा किसी भी स्तर पर घरों में राशन का भंडारण भी नहीं किया जाए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है