हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2017

BJP

44

INC

21

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

किचन में खाना बनाते समय रखें इन वास्तु नियमों का ध्यान, घर आएगी सुख- समृद्धि

वास्तु दोष कई बीमारियों और परेशानियों का कारण भी बन सकता है

किचन में खाना बनाते समय रखें इन वास्तु नियमों का ध्यान, घर आएगी सुख- समृद्धि

- Advertisement -

घर में सुख समृद्धि रहे इसके लिए लोग तरह-तरह के उपाय करते हैं। अगर घर पर वास्तु नियमों का ध्यान रखा जाए तो घर पर खुशहाली आ सकती है। वास्तु अनुसार घर में सुख समृद्धि और शांति के लिए सही दिशा में काम करना महत्वपूर्ण माना गया है। कड़ी मेहनत के बावजूद अगर आप को सफलता नहीं मिल पा रही है तो इसके पीछे वास्तु दोष भी हो सकता है। घर के सबसे अहम हिस्से किचन में किसी भी तरह का वास्तु दोष होता है तो यह कई बीमारियों और परेशानियों का कारण भी बन सकता है। वास्तु अनुसार आप जिस दिशा में बैठ कर भोजन करते हैं या खाना पकाते हैं वह सही होनी चाहिए , वरना नुकसान हो सकता है। चलिए आज खाना बनाने और खाने से जुड़े वास्तु के कुछ उपायों के बारे में जानते है..

यह भी पढ़ें:खाना खाते समय भूलकर भी ना करें ऐसी गलती, हो जाएंगे कंगाल

  • वास्तु के अनुसार किचन में खाना बनाते वक्त ध्यान रहे कि आप का मुंह हमेशा पूर्व दिशा में होना चाहिए। इससे घर के सभी सदस्यों का स्वास्थ ठीक रहता है। वहीं, दक्षिण-पश्चिम की दिशा में अगर मुंह करके खाना बनाया जाए तो यह कलह का कारण बनता है।
  • वास्तु के मुताबिक पूर्व दिशा की ओर मुंह करके खाना खाने से आपका तन और मन सदैव ताजा रहता है। वहीं उत्तर दिशा में भोजन करने से धन की प्राप्ति होती है। पढ़ने वाले बच्चों के लिए भी उत्तर दिशा में मुंह करके भोजन करना शुभ माना जाता है।
  • अगर आप अन्न का सम्मान करना चाहते हैं तो हमेशा जमीन पर बैठकर ही उसको ग्रहण करना चाहिए। आजकल अक्सर लोग अपने डाइनिंग टेबल पर या बेड पर बैठकर भोजन करते हैं। वास्तु अनुसार, ऐसा करने से घर में आर्थिक और शारीरिक दोनों समस्याएं आती हैं। पुराने समय में भी लोग जमीन पर बैठकर ही भोजन करते थे, जो बहुत शुभ माना जाता था।
  • वास्तु अनुसार घर में जब भी कोई मेहमान आए तो उन्हें हमेशा दक्षिण या पश्चिम दिशा की ओर मुख करके बैठाना चाहिए। उनको भोजन करवाने से पहले भगवान को भोग लगाएं फिर ही मेहमान को भोजन दें। माना जाता है ऐसा करने से मां अन्नपूर्णा प्रसन्न होती हैं, और घर में कभी धन की कमी नहीं होती।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है