Covid-19 Update

3,08, 944
मामले (हिमाचल)
302, 438
मरीज ठीक हुए
4167
मौत
44,298,864
मामले (भारत)
598,393,278
मामले (दुनिया)

बैंक कर्मचारी नहीं टाल सकते कोई काम, यहां जानें ग्राहकों के अधिकार

ग्रीवांस रिड्रेसल फोरम का काम है ग्राहक की शिकायत को निपटाना

बैंक कर्मचारी नहीं टाल सकते कोई काम, यहां जानें ग्राहकों के अधिकार

- Advertisement -

आजकल ज्यादातर लोगों ने बैंक में खाता खुलवाया हुआ है। आमतौर पर बैंक में पैसे जमा करवाने या निकलवाने जाने वाले व्यक्ति को कुछ परेशानियों का सामना जरूर करना पड़ता है। वहीं, कुछ चालान बनाने के लिए बैंक में जाते हैं। चालान बनाने के लिए उन्हें एक काउंटर से दूसरे काउंटर पर जाना पड़ता है। हालांकि, बहुत बार ऐसा भी होता है कि हमें बैंक कर्मचारी बोल देते हैं कि अभी लंच का समय है, बाद में आएं। जबकि, हम आपको बता दें कि कोई भी बैंक लंच के नाम पर ग्राहकों को इंतजार नहीं करा सकता है।

यह भी पढ़ें- गलती से ऑफिस के लैपटॉप पर ना करें ये काम, जा सकती है नौकरी

बता दें कि बैंक अधिकारियों द्वारा ग्राहकों के घंटों तक इंतजार करवाना नियमों के खिलाफ है। किसी भी बैंक के अधिकारी एक साथ लंच (Lunch) पर नहीं जा सकते हैं। नॉर्मल ट्रांजेक्शन में कोई रुकावट ना आए इसके लिए बैंक अधिकारियों के एक-एक करके लंच ब्रेक पर जाना चाहिए। हालांकि, बहुत सारे बैंक में ऐसा होता है कि अधिकारी घंटों की लंच ब्रेक लेकर चले जाते हैं और ग्राहकों को इंतजार करना पड़ता है।

ध्यान रहे कि अगर आपको कोई बैंक अधिकारी ज्यादा इंतजार करवाए या आपसे अच्छे तरीके से बात ना करे तो आप उनकी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। कोई भी ग्राहक बैंक मैनेजर या नोडल ऑफिसर से उनकी शिकायत कर सकता है। इसके अलावा ग्राहक बैंक (Bank) की ईमेल या कस्टमर केयर पर कॉल करके भी शिकायत दर्ज कर सकते है। इतना ही नहीं ग्राहक अपनी शिकायत ग्रीवांस रिड्रेसल फोरम में भी लिख सकते हैं। गौरतलब है कि ग्रीवांस रिड्रेसल फोरम का काम है ग्राहक की शिकायत को निपटाना।

वहीं, अगर कोई बैंक ग्राहक की शिकायत पर कोई एक्शन नहीं लेता है तो ग्राहक बैंकिंग लोकपाल में शिकायत दर्ज करवा सकता है। भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकिंग लोकपाल योजना की शुरुआत 2006 में की थी। ध्यान रहे कि आप बैंकिंग लोकपाल में शिकायत तभी दर्ज करवा सकते हैं अगर बैंक ने आपकी शिकायत का एक महीने तक कोई जवाब ना दिया हो। इसके अलावा बैंक ने आपकी शिकायत को खारिज कर दिया हो या फिर बैंक ने जो जवाब दिया हो उससे ग्राहक संतुष्ट ना हो।

माननी होंगी कुछ शर्तों

किसी भी बैंक ग्राहक को बैंकिंग लोकपाल में शिकायत दर्ज करवाते समय कुछ शर्तों का ध्यान रखना होगा। कोई भी ग्राहक डायरेक्ट बैंकिंग लोकपाल में शिकायत नहीं कर सकते हैं। इसके लिए पहले ग्राहक को बैंक में लिखित शिकायत करनी होगी। इसके बाद एक साल के अंदर ही आपको बैंकिंग लोकपाल में शिकायत करनी होगा।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है