Covid-19 Update

3,07, 628
मामले (हिमाचल)
300, 492
मरीज ठीक हुए
4164
मौत
44,253,464
मामले (भारत)
594,993,209
मामले (दुनिया)

बंद बैंक अकाउंट से भी निकाल सकते हैं पैसे, बस करना होगा ये आसान काम

हमेशा अपने बैंक अकाउंट के साथ नॉमिनी जरूर बनवाएं

बंद बैंक अकाउंट से भी निकाल सकते हैं पैसे, बस करना होगा ये आसान काम

- Advertisement -

आजकल बहुत सारे लोगों ने एक से ज्यादा बैंकों में खाते खुलवाए हुए हैं। कुछ लोग हर खाते में लंबे समय तक कोई लेन-देन नहीं कर पाते, जिस कारण उनका खाता बंद कर दिया जाता है। कई बार ऐसा होता है कि बहुत सारे लोगों के पैसे इन्हीं बंद खातों में रह जाते हैं। आज हम आपको बंद पड़े बैंक खातों (Inactive Bank Account) से पैसे निकालने की प्रक्रिया बताएंगे।

यह भी पढ़ें- घर बैठे रिप्लेस कर सकते हैं वोटर ID कार्ड, यहां जानें पूरा प्रॉसेस

बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक के नियमानुसार, ऐसे खाते में मौजूद धनराशि को रिजर्व बैंक के डिपॉजिटर एजुकेशन एंड अवेयरनेस (Depositor Education And Awareness) में डाल दिया जाता है। आरबीआई के पास ये धनराशि हर साल बढ़ती जा रही है। अब ये राशि करीब 40 हाजर करोड़ रुपए तक पहुंच चुकी है। आपको अपने बंद पड़े खाते से पैसे निकलवाने के लिए सबसे पहले बैंक से संपर्क करना होगा।

पहले ये पता करना होगा कि उस खाते में कितने पैसे हैं। इसके लिए आपको बैंक में खाताधारक का आधार कार्ड, पैन कार्ड, जन्मतिथि और नाम-पता बताना होगा। इसके बाद अगर आप खाताधारक हैं या आप खाता धारक के नॉमिनी हैं तो आपको बैंक मौजूदा धनराशि के बारे में बता देगा। कुछ बैंक ये जानकारी आपको बैंक की वेबसाइट से भी दे देते हैं।

वहीं, अगर किसी अकाउंट होल्डर की मौत हो चुकी है और उसने अपने परिवार के किसी भी सदस्य को नॉमिनी नहीं बनाया है तो ऐसे में आपको मृतक की पासबुक और अन्य दस्तावेज लेकर बैंक मैनेजर से संपर्क करना होगा। इसके बाद आपको वारिसान प्रमाण पत्र और बड़ी रकम निकालने के लिए सक्सेशन सर्टिफिकेट बैंक में जमा करना होगा। इसके बाद बैंक प्रबंधन 15 दिनों के अंदर अनक्लेम्ड रकम वापस लौटा देता है।

क्या कहते हैं फाइनेंस एक्सपर्ट

एक्सपर्ट्स के अनुसार, अगर आप खुद खाताधारक हैं तो बैंक अधिकारी जरूरी कागजात लेकर और सामान्य पूछताछ करके निष्क्रिय खातों में पड़ी धनराशि को ब्याज के साथ वापस लौटा देते हैं।

जरूर बनवाएं नॉमिनी

अगर किसी ने एफडी और आरडी अकाउंट खुलवा रखा है और उसमें करीब आठ साल तक कोई लेन-देन नहीं किया है तो वे निष्क्रिय घोषित कर दिया जाता है। जबकि, बचत खाते और करंट अकाउंट के लिए ये समय सीमा सिर्फ दो साल की है। ऐसे में अगर आप एक से ज्यादा खाते नहीं चलाना चाहते तो एप्लीकेशन देकर उन्हें बंद करवा दें और अपनी धनराशि वापस ले लें। ध्यान रहे कि हमेशा अपने बैंक अकाउंट के साथ नॉमिनी जरूर बनवाएं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है