Covid-19 Update

2,00,043
मामले (हिमाचल)
1,93,428
मरीज ठीक हुए
3,413
मौत
29,821,028
मामले (भारत)
178,386,378
मामले (दुनिया)
×

Rathore का वार- सरकार का प्रशासन पर कोई नियंत्रण नहीं, तालमेल की कमी

बोले- बद्दी और पांगी मामले में दोषी अधिकारियों के खिलाफ हो कार्रवाई

Rathore का वार- सरकार का प्रशासन पर कोई नियंत्रण नहीं, तालमेल की कमी

- Advertisement -

शिमला। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर (Congress state president Kuldeep Rathore) ने कहा है कि सरकार का प्रशासन पर कोई भी नियंत्रण नहीं है। कोरोना (Corona) महामारी के इस दौर में भी सरकार व प्रशासन के बीच कोई तालमेल नजर नहीं आ रहा है। कोरोना संक्रमित लोगों को अपने इलाज के लिए मारे-मारे फिरना पड़ रहा है। अस्पतालों में कहीं बेड (Bed) नहीं, तो कहीं ऑक्सीजन (Oxygen) नहीं, कहीं वेंटिलेटर नहीं। अव्यवस्था के इस आलम में सरकार की दम तोड़ती पूरी व्यवस्था की पोल खुल गई है। कुलदीप राठौर ने बद्दी में एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति के शव को अंतिम संस्कार के लिए कूड़ा ढोने वाले ट्रैक्टर में ले जाने और चंबा (Chamba) जिला के पांगी में कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मजदूरों को सुलभ शौचालय में रखने पर हैरानी प्रकट करते हुए कहा है कि यह सरकार और प्रशासन की संवेदनहीनता को साफ दर्शाता है।

यह भी पढ़ें: जयराम की अध्यक्षता में हुई Covid-19 समीक्षा बैठक, लिए गए अहम निर्णय

उन्होंने कहा कि कोरोना से मरने वाले किसी भी व्यक्ति के परिवार पर विपदा में उसके अंतिम संस्कार को इस ढंग से किया जाना बहुत ही दुखद और हैरानी वाला है। उन्होंने इस पूरे मामले के दोषी अधिकारियों (Guilty Officers) के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने इस बात पर भी हैरानी जताई है, जिसमें कोरोना प्रोटोकॉल (Corona Protocol) के तहत शहरों में किए जाने वाले किसी भी व्यक्ति के अंतिम संस्कार के लिए लकड़ी व पंडित की पूजा का पूरा खर्च मृतक के आश्रित से वसूला जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसी भी आपदा या महामारी में हुई किसी की भी मृत्यों पर कम से कम अंतिम संस्कार के लिए लकड़ी का खर्च सरकार को उठाना चाहिए। उन्हें यह लकड़ी निशुल्क उपलब्ध करवाई जानी चाहिए। राठौर ने प्रदेश में हर रोज बढ़ते कोरोना संक्रमण पर चिंता प्रकट करते हुए लोगों का आह्वान किया है कि वह कोरोना से अपनी सुरक्षा के लिए इसके नियमों का पूरा पालन करें। इस समय उन्हें अनावश्यक इधर-उधर जाने से भी बचना चाहिए।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है