Covid-19 Update

57,189
मामले (हिमाचल)
55,796
मरीज ठीक हुए
960
मौत
10,655,435
मामले (भारत)
99,333,754
मामले (दुनिया)

सर्दियों में खान-पान का रखें विशेष ध्यान, इन चीजों के सेवन से बिगड़ सकता है #स्वास्थ्य

सर्दियों में खतरनाक साबित हो सकते हैं जायफल और लाल बीन्स

सर्दियों में खान-पान का रखें विशेष ध्यान, इन चीजों के सेवन से बिगड़ सकता है #स्वास्थ्य

- Advertisement -

सर्दियों (Winter) का मौसम शुरू हो चुका है और इन दिनों खान-पान का ध्यान रखना अच्छे स्वास्थ्य (Health) के लिए काफी अहम हो जाता है। आमतौर पर लोगों के बीच ये धारणा होती है कि सर्दियों में कुछ भी खाओ सब पच जाता है और स्‍वास्‍थ्‍य बेहतर हो जाता है। अगर आप भी इस भ्रम में जी रहे हैं तो ये आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

कई जाने-माने डाइटिशियन्स (Dieticians) के अनुसार सर्दियों में हमें कई खाद्य पदार्थों को खाने से बचना चाहिए। जायफल और लाल बीन्स भी इन्हीं खाद्य पदार्थों में शामिल है। विशेषज्ञों का मानना है कि ठंड में शरीर में खास तरह के हार्मोंस बनते हैं, जो किसी भी तरह के खाने से पाचन तंत्र को बिगड़ने नहीं देते हैं, लेकिन कुछ ऐसी चीज़ें भी हैं, जिनको खाने में बरती गई लापरवाही ख़तरनाक साबित हो सकती है। तमाम शोधों (Research) में ये बात सामने आ चुकी है कि लाल सोयाबीन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए ख़तरनाक भी हो सकती है। क्योंकि इसमें खास तरह की वसा की मात्रा अधिक होने के चलते इसे पचा पाना मुश्किल होता है।

शोध के मुताबिक क्योंकि बीन्स में प्रोटीन (Protien), फाइबर, विटामिन और खनिज की मात्रा अधिक होती है इसलिए इसे डाइट का अहम हिस्सा बनाया गया है। वहीं, लाल बीन्स में शरीर को फायदा पहुंचाने वाले इन सभी तत्‍वों के अलावा फैट की मात्रा बहुत अधिक होती है। इस फैट (Fat) को आसानी से पचा पाना मुश्किल होता है। इसे खाने के लिए 12 घंटे तक पानी में रखने के बाद उबालना भी चाहिए। इसके बाद ही इसे खाया जा सकता है लेकिन मात्रा तब भी कम रखनी चाहिए।

वहीं, बात अगर जायफल की करें तो इसकी अधिक मात्रा किसी को भी बीमार बना सकती है। पेड़ों पर होने वाला यह फल आमतौर पर नॉन वेज(Non veg) खाने में इस्‍तेमाल किया जाता है, लेकिन कई बार इसे आलू के अलावा भी कुछ रेसीपीज (Recipes) में इस्‍तेमाल किया जाने लगा है। फूड शोधकर्ताओं के अनुसार इसकी थोड़ी सी भी ज्‍यादा मात्रा पाचन तंत्र (Digestive System) को खराब कर सकती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है