Covid-19 Update

2,21,826
मामले (हिमाचल)
2,16,750
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,108,996
मामले (भारत)
242,470,657
मामले (दुनिया)

Modi बोले- हमीरपुर धौलासिद्ध हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर प्रोजेक्ट को मिली मंजूरी, मिलेगी बिजली और रोजगार

कृषि सुधार बिल पर विपक्ष को लिया आड़े हाथ

Modi बोले- हमीरपुर धौलासिद्ध हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर प्रोजेक्ट को मिली मंजूरी, मिलेगी बिजली और रोजगार

- Advertisement -

मनाली। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि हमीरपुर में 66 मेगावाट के धौलासिद्ध हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर प्रोजेक्ट को मंजूरी मिल गई है। इससे ना केवल बिजली मिलेगी, बल्कि बेरोजगारों को रोजगार भी प्राप्त होगा। हिमाचल में ग्रामीण सड़कों के निर्माण, पावर प्रोजेक्ट, रेल व हवाई कनेक्टिविटी (Air Connectivity) परियोजनाओं पर तेजी से काम हो रहा है। यह बात उन्होंने मनाली के सोलंगनाला में जनसभा को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि हिमाचल के लोगों का जीवन आसान बनाने के लिए सड़क, बिजली के साथ मोबाइल इंटरनेट कनेक्टिविटी जरूरी है। पर्यटन स्थलों में तो इंटरनेट कनेक्टिविटी बहुत जरूरी हो गई है। हिमाचल पहाड़ी होने के चलते नेटवर्क के स्थाई समाधान करने के लिए देश के छह लाख गांवों में ऑप्टिकल फाइबर (Optical Fibre) का काम शुरू हो गया है। एक हजार दिनों में काम मिशन मोड पर पूरा किया जाना है। इससे गांव-गांव में बाईफाई हॉटस्पॉट मिलेगा।

यह भी पढ़ें: #AtalTunnel: विश्व की सबसे लंबी सुरंग देश को समर्पित; पॉइंट्स में जानें इसकी खासियत

 

 

हिमाचल के बच्चों की पढ़ाई, मरीजों की दवाई और टूरिज्म की कमाई हर तरफ से लाभ होने वाला है। कृषि सुधार बिल पर उन्होंने कहा कि बिचौलिये और दलाल वार से घबरा रहे हैं। हिमाचल के लोग अच्छी तरह जानते हैं कि बिचौलियों को बढ़ावा देने वालों ने क्या स्थिति कर दी थी। हिमाचल देश के फल उत्पादक राज्यों में एक है। कुल्लू (Kullu), शिमला और किन्नौर आदि का सेब किसान के बागीचे से 40 से 50 रुपये किलो के हिसाब से निकलता है और दिल्ली में 100 से 150 रूपये में पहुंचता है। बीच के सौ रुपये का हिसाब ना बागवान और ना ही खरीददार को मिला है। इसमें किसान का भी नुकसान खरीद करने वाले का भी नुकसान हुआ है। बागवान साथी जानते हैं कि जब सेब का सीजन पिक पर जाता है तो कीमतें धड़ाम से गिर जाती हैं। इसकी मार छोटे बागीचे वालों को झेलनी पड़ती है।

यह भी पढ़ें: सिस्सू में जनता से बोले #PM_Modi – अब योजनाएं इस आधार पर नहीं बनतीं कि कहां कितने वोट हैं

 

 

कृषि सुधार बिल (Agricultural Reform Bill) का विरोध करने वाले पहले की तरह स्थिति बनाए रखने के पक्षधर हैं। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र के विकास के लिए कानूनों में सुधार किया गया है। यह बात विपक्ष ने भी सोची थी, वह भी चाहते थे। सोच तो उनकी भी थी और हमारी भी। पर उनमें हिम्मत की कमी थी और हमारे में हिम्मत है। उनके सामने उस वक्त चुनाव थे और हमारे लिए किसान जरूरी है। बागवान समूह बनाकर सेब सीधे दूसरे राज्यों में बेचना चाहें तो बेच सकते हैं। अगर उन्हें स्थानीय मंडी में फायदा हो रहा है तो वह स्थानीय मंडी में सेब बेच सकते हैं। यह विकल्प भी है, इसे खत्म नहीं किया गया है। मोदी ने कहा कि हिमाचल में कोरोना (Corona) के काल में स्थितियों को संभाला है। फिर भी लोग संक्रमण से खुद को सुरक्षित रखें। उन्होंने कहा कि अच्छा होता कोरोना काल ना होता। कई परिचित चेहरें हैं, जिनसे मिलना चाहता था पर नहीं मिल पा रहा हूं। आपके दर्शन का मौका मिल गया खुशी की बात है।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है