Covid-19 Update

58,879
मामले (हिमाचल)
57,406
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

पत्नी के शव के 300 टुकड़े करने वाले Army के रिटायर्ड डॉक्टर को आजीवन कारावास

पत्नी के शव के 300 टुकड़े करने वाले Army के रिटायर्ड डॉक्टर को आजीवन कारावास

- Advertisement -

भुवनेश्वर। ओडिशा (Odisha) के एक कोर्ट ने अपनी 61-वर्षीय पत्नी की हत्या कर सबूत मिटाने वाले सेना (Army) के रिटायर्ड डॉक्टर (Retired doctor) को आजीवन कारावास (Life imprisonment) की सज़ा सुनाई है। बात दें कि लेफ्टिनेंट कर्नल (सेवानिवृत्त) सोमनाथ परिदा ने 2013 में गुस्से में आकर स्टील की टॉर्च से पत्नी ऊषाश्री की हत्या कर शव के 300 टुकड़े किए और उन्हें टिफिन समेत 22 डिब्बों में छुपा दिया था। कोर्ट ने 78 साल के परीदा पर 50 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। रिपोर्ट्स के अनुसार अदालत ने जैसे ही सजा सुनाई परीदा अदालत में फूट फूटकर रोने लगा।

यह भी पढ़ें:बरमाणा में Truck के पास मिला चालक का शव, जांच में जुटी पुलिस

परीदा 1992 में रिटायर हुआ था। इसके बाद वह विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) समेत कई संगठनों के लिए काम करता रहा। जून, 2013 में गुस्से में उसने पत्नी उषाश्री समाल को भुवनेश्वर स्थित अपने आवास पर स्टील की टॉर्च से मार डाला था। बाद में उसने उसके शव को 300 हिस्सों में काट डाला। इसके बाद उसने शव को सर्जरी वाले उपकरण से 6-6 इंच के हिस्सों में काटा और उसे 22 टिफिन में पैक कर दिया। डॉक्टर ने शव पर फिनाइल भी छिड़क दिया ताकि उससे बदबू न आए। वहीं मामला सार्वजनिक होने के बाद परीदा को गिरफ्तार किया गया और एक बक्से में से टिफिन से उसकी पत्नी के शव के टुकड़े बरामद हुए। इतनी भयावह घटना को अंजाम देने के बावजूद पुलिस डॉक्टर के शांत स्वभाव को देखकर हैरान थी।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है