Covid-19 Update

2,16,813
मामले (हिमाचल)
2,11,554
मरीज ठीक हुए
3,633
मौत
33,448,163
मामले (भारत)
229,050,821
मामले (दुनिया)

RSS चीफ भागवत बोले- भारत के विकास के लिए ‘2 बच्चों की नीति’ समय की मांग

RSS चीफ भागवत बोले- भारत के विकास के लिए ‘2 बच्चों की नीति’ समय की मांग

- Advertisement -

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने दो बच्चों से जुड़े कानून का जिक्र कर नया बखेड़ा खड़ा कर दिया है। भागवत ने शुक्रवार को कहा कि भारत के सही विकास के लिए प्रति परिवार केवल 2 बच्चों का कानून (2 Child Policy) लाना ज़रूरी है क्योंकि यह समय की मांग है। उन्होंने कहा, ‘इसका किसी धर्म विशेष से कोई संबंध नहीं होगा, यह कानून सभी पर लागू होगा।’ हालांकि, उन्होंने कहा कि इस पर अंतिम फैसला सरकार को लेना है। अपने चार दिवसीय दौरे पर मुरादाबाद पहुंचे भागवत ने जिज्ञासा समाधान सत्र के दौरान संघ के कार्यकर्ताओं से बात की। सूत्रों के मुताबिक इस दौरान संघ प्रमुख ने यह भी कहा कि काशी और मथुरा का मुद्दा आरएसएस के अजेंडे में नहीं है।

यह भी पढ़ें: पुलिस जवान की जान बचाने को बर्फीले रास्ते में 4 घंटे में 7 किमी पैदल सफर

वहीं भागवत के इस बयान पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता नवाब मलिक (Nawab Malik) ने कहा, ‘मोहन भागवत जी 2 बच्चों को लेकर कानून लाना चाहते हैं। शायद वे नहीं जानते कि महाराष्ट्र में इससे संबंधित कई कानून पहले से हैं। ऐसा ही कुछ और राज्यों में भी है।’ मलिक ने कहा है कि यदि भागवत जी जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदीजी को ऐसा कानून बनाने दें। हमने अतीत में देखा कि इसके साथ क्या हुआ। बता दें कि संघ प्रमुख ने कहा था कि जनसंख्या वृद्धि विकराल रूप धारण कर चुकी है। इस मुद्दे पर संघ का रुख हमेशा दो बच्चों के कानून के पक्ष में रहा हालांकि यह जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है। सरकार को ऐसा कोई कानून बनाना चाहिए जिससे जनसंख्या नियंत्रण हो सके।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है