350 साल पुराने लिंगायत मठ ने पहली बार Muslim शख्स को बनाया मुख्य पुजारी

350 साल पुराने लिंगायत मठ ने पहली बार Muslim शख्स को बनाया मुख्य पुजारी

- Advertisement -

हुबली। उत्तर कर्नाटक (Karnataka) के गडग जिले के एक 350 साल पुराने लिंगायत मठ (Lingayat Math) ने 33 साल के एक मुस्लिम शख्स को मुख्य पुजारी (Head Priest) बनाने का फैसला किया है। रिपोर्ट्स के अनुसार दीवान शरीफ रहिमनसब मुल्ला (diwan sharief rahimansab mulla) 26 फरवरी को मुरुगराजेंद्र कोरानेश्वरा शांतिधाम मठ की जिम्मेदारी संभालेंगे। मिली जानकारी के अनुसार शरीफ के पिता ने कई साल पहले इस मठ को 2 एकड़ जमीन दान की थी। मठ के मुख्य पुजारी शिवयोगी के प्रवचनों से प्रभावित होकर शरीफ के पिता रहिमनसब मुल्ला ने भी दीक्षा ली थी।


यह भी पढ़ेंखुशखबरी : जियो ने 98 रुपए के प्लान में किया बदलाव, अब मिलेगा ज्यादा फायदा

इस मामले पर खजूरी मठ के मुख्य पुजारी मुरुगराजेंद्र कोरानेश्वर शिवयोगी का कहना है कि बसव का दर्शन सार्वभौमिक है और हम जाति-धर्म के आधार पर भेदभाव न करते हुए हर किसी को गले लगाते हैं। बता दें कि 10 नवंबर, 2019 को शरीफ ने ‘लिंग दीक्षा’ ली थी। शरीफ ने बताया कि वह बचपन से ही 12वीं सदी के सुधारक बासवन्ना की शिक्षाओं से प्रभावित थे। उन्होंने आगे बताया कि मैं पास के गांव में आटा चक्की चलाता था और खाली वक्त में बसवन्ना और 12वीं शताब्दी के अन्य साधुओं द्वारा लिखे गए प्रवचन पढ़ता था। कोरानेश्वरा शांतिधाम के मठ के स्वामीजी ने मेरी इस छोटी सी सेवा को पहचाना और मुझे अपने साथ ले गए। मैं बसवन्ना और मेरे गुरु द्वारा बताए रास्ते पर आगे बढूंगा। यह लिंगायत मठ गडग जिले के आसुती गांव में है। कर्नाटक और महाराष्ट्र के लाखों अनुयायी इससे जुड़े हैं।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Tags: | koraneshwara sansthan math | diwan sharief rahimansab mulla | दीवान शरीफ रहिमनसब मुल्ला | कर्नाटक | लिंगायत मठ | मुस्लिम पुजारी | मुख्य पुजारी | muslim man in temple | lingayat math
loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है