Covid-19 Update

2, 84, 952
मामले (हिमाचल)
2, 80, 739
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,125,370
मामले (भारत)
523,236,943
मामले (दुनिया)

इस देश की जमीन तेजी से हो रही है कम, वजह जानकर होंगे हैरान

समुद्र में समा जाने और सिकुड़ने का खतरा साफ नजर आ रहा

इस देश की जमीन तेजी से हो रही है कम, वजह जानकर होंगे हैरान

- Advertisement -

भारत का एक खूबसूरत पड़ोसी देश मालदीव (Maldives) लगातार सिकुड़ता जा रहा है, ऐसा माना जा रहा है कि आने वाले कुछ वर्षों में इस देश के एक हजार से ज्यादा छोटे द्वीप पानी में समा जाएंगे। हालांकि, यह देश अपने द्वीपों की खूबसूरती की वजह से ही दुनियाभर के पर्यटकों की पसंदीदा जगह है। पर्यावरण असंतुलन के चलते धरती पर तमाम बदलाव हो रहे हैं, कहीं भीषण बारिश तो कहीं सूखा ने धरती पर तमाम मुश्किलें पैदा कर दी है। समुद्र के बढ़ते जलस्तर (Rising water level of the Sea)के चलते कई शहरों के अस्तित्व पर भी संकट के बादल मंडराने लगे हैं। ऐसा ही कुछ हो रहा है (Arabian Sea)अरब सागर में स्थित खूबसूरत देश (Beautiful Country)मालदीव के साथ।

यह भी पढ़ें- ये हैं देश के सबसे बड़े चिड़ियाघर, भ्रमण के साथ-साथ मिलता है ज्ञान 

एक रिपोर्ट के मुताबिक, मालदीव दुनिया का शायद ऐसा अकेला देश है, जिसमें समुद्र में समा जाने और सिकुड़ने का खतरा साफ नजर आ रहा है। बता दें कि मालदीव समुद्री किनारों को दुनियाभर में लग्जरी बीचेज के रूप में जाना जाता है। यहां के समुद्री किनारों की खूबसूरती वाकई में शानदार है। मालदीव में समुद्र का नीला पानी और यहां के रिसॉर्ट्स किसी का भी मन मोह लेते हैं। लेकिन एक रिपोर्ट्स के मुताबिक, मालदीव का 80 फीसदी इलाका समुद्र स्तर के बहुत करीब आ गया है।

 

जिससे इसके पानी में डूबने की आशंका ज्यादा हो गई है। बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, मालदीव में लगभग 1,200 ऐसे द्वीप हैं, जो बहुत जल्दी पानी में समा सकते हैं। इस बात का जिक्र मालदीव के उपराष्ट्रपति वहीद हसन ने वर्ल्ड बैंक (World Bank) से भी किया है। उन्होंने कहा कि हम दुनिया के उन देशों में हैं, जहां वाकई डूबने का सबसे ज्यादा खतरा बना हुआ है। इसलिए हमें कोई ऐसा तरीका देखना होगा कि हम कैसे उसे बचा सकते हैं।

पृथ्वी के बदलते क्लाइमेट के चलते दुनियाभर में समुद्र का जलस्तर बढ़ता जा रहा है, जिसके चलते मालदीव पर खतरा मंडरा रहा है। बता दें कि मालदीव के द्वीप बहुत निचाई पर हैं, वर्ष 2008 में मालदीव के तत्कालीन राष्ट्रपति मोहम्मद नशीन ने भी कहा था कि वो कहीं और जमीन खरीदने की योजना बना रहे हैं। ताकि डूबने की स्थिति में देश के नागरिकों को वहां भेजा जा सके। हालांकि, मालदीव में जियो इंजीनियरिंग (Geo Engineering) के जरिए समुद्र के बीच में ही एक नया शहर विकसित किया जा रहा है,जिसे सिटी ऑफ होप यानी हुलहुमले नाम दिया गया है। यह नई जगह माले से बस 20 मिनट के रास्ते पर है। बताया जा रहा है कि इस नए कृत्रिम द्वीप हुलहुमले को लाखों क्यूबिक मीटर बालू डालकर बनाया गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है