Covid-19 Update

3,12, 188
मामले (हिमाचल)
3, 07, 820
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,583,360
मामले (भारत)
622,055,597
मामले (दुनिया)

हिमाचलः गेट बनाने के लिए पहले डीपीएफ भूमि में की खुदाई फिर चीड़ का पेड़ भी किया धराशाई

दियोटसिद्ध का है मामला , वन विभाग करेगा कार्रवाई , 40 हज़ार का लगेगा जुर्माना

हिमाचलः गेट बनाने के लिए पहले डीपीएफ भूमि में की खुदाई फिर चीड़ का पेड़ भी किया धराशाई

- Advertisement -

हमीरपुर। बाबा बालक नाथ की पावन धरती पर किस तरह नियमों के विपरीत कार्य किया जा रहा है, उसका ताजा उदाहरण डीपीएफ भूमि से छेड़छाड़ कर पेश किया गया है। यहां पर गेट बनाने के नाम पर पहले वन क्षेत्र में जेसीबी के माध्यम से खुदाई की गई साथ ही बीच में आ रहे एक बड़े चीड़ के पेड़ को भी धराशाई भी कर दिया गया । हैरानी की बात है कि वन विभाग के अधिकारियों से पेड़ गिराने के लिए किसी भी प्रकार की अनुमति नहीं ली गई थी ।
बताते चलें कि डीपीएफ भूमि ऐसा वन क्षेत्र होता है जहां पर किसी भी प्रकार का कार्य बिल्कुल नहीं किया जा सकता।लेकिन दियोटसिद्ध में सड़क किनारे डीपीएफ भूमि में पहले खुदाई की गई तथा फिर चीड़ के पेड़ की बलि ले ली गई ।

यह भी पढ़ें- हिमाचल में बदला मौसमः लाहुल व कुल्लू में बर्फबारी, जलोड़ी दर्रा पर आवाजाही हुई बंद

दरअसल बाबा बालक नाथ मंदिर को जाने वाले गेट नंबर-2 पर बीएसएनएल कंपनी को न्यास द्वारा गेट निर्माण का कार्य सौपा गया था । कंपनी की ओर से जेसीबी के माध्यम से गेट के लिए नींव खोदी जा रही थी । वन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इस दौरान चीड़ के एक पेड़ को भी गिरा दिया गया है । अधिकारियों नें मौके पर पहुंचकर खुदाई को रुकवाया तथा कार्रवाई भी करने की बात कही जा रही है । अब विभाग के अधिकारियों द्वारा डेमेज रिपोर्ट बनाकर जुर्माना वसूला जाएगा ।

न्यास के वाइस चेयरमैन व एसडीएम बड़सर शशि पाल शर्मा का कहना है कि गेट नंबर 2 पर बीएसएनल कंपनी द्वारा गेट निर्माण के लिए फाउंडेशन खोदी जा रही थी, इसी दौरान चीड़ का पेड़ गिर गया है ।

रेंज ऑफिसर वन विभाग राजकुमार का कहना है कि डीपीऍफ़ भूमि में किसी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं की जा सकती। चीड़ के पेड़ की डैमेज रिपोर्ट बनाकर ठेकेदार से जुर्माना वसूला जाएगा । उन्होंने बताया कि आंकलन के मुताबिक लगभग 40 हजार की डैमेज रिपोर्ट बन सकती है ।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है