Covid-19 Update

2,63,914
मामले (हिमाचल)
2, 48, 802
मरीज ठीक हुए
3944*
मौत
40,371,500
मामले (भारत)
363,221,567
मामले (दुनिया)

देश को कब मिलेगा नया सीडीएस, कौन बना चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी का अध्यक्ष, जानें यहां

थल सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने संभाला पदभार, तीनों सेनाओं के प्रमुखों में सबसे वरिष्ठ

देश को कब मिलेगा नया सीडीएस, कौन बना चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी का अध्यक्ष, जानें यहां

- Advertisement -

नई दिल्ली। थल सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे (Chief of Army Staff General MM Naravane) ने चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष का पदभार संभाला लिया है, जिसमें तीनों सेनाओं के प्रमुख शामिल होते हैं। सीडीएस जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) के निधन के बाद से यह पद रिक्त था। सूत्रों ने बताया कि तीनों सेनाओं के प्रमुखों में से जनरल नरवणे के सबसे वरिष्ठ होने के चलते उन्हें कमेटी के अध्यक्ष का पदभार सौंपा गया हैं। सीडीएस पद के गठन से पहले आमतौर पर तीनों सेनाओं के प्रमुखों में से सबसे वरिष्ठ को चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष का पदभार सौंपा जाता था।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: आज के दिन 1971 की जंग में पाक के 93 हजार सैनिकों ने टेके थे घुटने, किया था आत्मसमर्पण

पहले यह खबर आई थी कि सरकार जल्द ही अगले प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू करेगी। कई सेवानिवृत्त सैन्य कमांडरों का कहना है कि जनरल नरवणे को इस पद पर नियुक्त करना विवेकपूर्ण कदम होगा, क्योंकि वह पांच महीने के अंदर सेना प्रमुख के पद से सेवानिवृत्त होने वाले हैं। सरकार सेना (Army), नौसेना (Navy) और वायु सेना (Air Force) के वरिष्ठ कमांडरों की एक समिति बनाएगी। तीनों सेनाओं से अगले दो-तीन दिनों के अंदर मिलने वाली अनुशंसा के आधार पर समिति को अंतिम रूप दिया जाएगा और फिर इसे मंजूरी के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) को भेजा जाएगा। रक्षा मंत्री से मंजूरी मिलने के बाद नामों पर विचार के लिए उन्हें कैबिनेट की नियुक्ति समिति के पास भेजा जाएगा, जो भारत के अगले सीडीएस के नाम पर अंतिम निर्णय लेगी।

भारत के पहले सीडीएस थे जनरल रावत

जनरल रावत ने पिछले वर्ष पहली जनवरी को देश के पहले सीडीएस का पदभार संभाला था, ताकि सेना, नौसेना और भारतीय वायुसेना के कार्यों में समन्वय लाया जा सके और देश की सैन्य क्षमता में बढ़ोतरी की जा सके। 1999 में कारगिल युद्ध (Kargil War) के समय देश की सुरक्षा प्रणाली में खामियों की जांच के लिए बनी उच्चस्तरीय समिति ने सीडीएस की नियुक्ति की अनुशंसा की थी। जनरल रावत ने पिछले दो वर्षों में तीनों सेनाओं में सुधार के लिए व्यापक कार्य किए थे। जनरल रावत का कार्यकाल मार्च, 2023 तक था। सीडीएस की सेवानिवृत्ति की उम्र 65 वर्ष है, जबकि सेना प्रमुखों का कार्यकाल 62 वर्ष या तीन वर्षों के लिए होता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है