हिमाचल: सेवानिवृत्त फौजी से 14 लाख रुपए की ठगी, धोखाधड़ी का मामला दर्ज

बैंक में नौकरी देने के नाम पर ठगी राशिए शिकायत पर जांच में जुटी पुलिस

हिमाचल: सेवानिवृत्त फौजी से 14 लाख रुपए की ठगी, धोखाधड़ी का मामला दर्ज

- Advertisement -

नाहन। सिरमौर जिला के पुरूवाला थाना के अंतर्गत एक सेवानिवृत फौजी (Retired Soldier) से करीब 14 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर धोखाधड़ी (Fruad) का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार 45 वर्षीय नरेश कुमार पुत्र बनवारी लाल निवासी गांव किशन कोट तहसील पांवटा साहिब ने पुरूवाला थाना में शिकायत (Complaint) दर्ज करवाते हुए बताया कि वह 2020 में सेना से रिटायर्ड है। सितंबर 2021 को उनके पास 78883-13571 से फोन आया कि आईसीआईसीआई कॉर्पोरेट ऑफिस के एचआर डिपार्टमेंट से बोल रहे हैं। फोन करने वाले व्यक्ति को उन्हें कहा कि आप सेना से रिटायर्ड है। लिहाजा आईसीआईसीआई बैंक सीएचआर डिमार्टमेंट सेवा के लिए कुछ नौकरियां (Jobs) रखता है। इस समय बैंक की नाहन शाखा में सुपरवाइजर का पद खाली है। इसी के लिए उन्हें फोन किया गया है।

यह भी पढ़ें- ऊना शहर की शक्ल बिगाड़ रही बेतरतीब पार्किंग, हादसों को न्योता दे रहे जहां तहां खड़े वाहन

शिकायतकर्ता नरेश कुमार ने पुलिस को बताया कि कॉलर ने इस दौरान अपने आफिस का पता कारपोरेट आफिस आईसीआईसीआई बैंक लक्ष्मी टॉवर बांड्रा मुंबई बताया। साथ ही कॉलर ने उनसे पेन कार्ड, आधार कार्ड सहित अन्य दस्तावेज भी मांगे, तो उन्होंने भेज दिए। कॉलर ने शिकायतकर्ता को कहा कि इस संबंध में फाइल बनाने के लिए 4000 रुपए लगेंगे, जिस पर उक्त राशि उन्होंने 8077933617 नंबर पर गूगल पे कर दी। इसके बाद उन्हें एक लेटर भेजा, जिसमें 4000 सिक्योरिटी अमाउंट लिखा था। इसके बाद फाइनल अप्रूवल (Final Approval) सहित अन्य औपचारिकताएं पूरी करने के लिए 12500 रुपये मांगे गए और कहा कि यह पहले वेतन के साथ वापिस हो जाएंगे। इस पर भी उन्होंने दो अलग-अलग नंबरों पर क्रमश: 6500 व 6000 रुपये की राशि गूगल पे के माध्यम से भेज दी।

शिकायतकर्ता ने बताया कि इसके बाद उनकी बात एक अन्य नंबर पर करवाई गई, जिसने अपना नाम स्नेहा बताते हुए खुद को एचआर मैनेजर बताया। इसके बाद दूसरे दिन फिर उसी नंबर से फोन आया और कॉलर ने अपना नाम दीक्षा बताया। साथ ही बताया कि वह शिमला (Shimla) के संजौली की रहने वाली है और मुंबई पर एचआर डिमार्टमेंट में नौकरी करती है। शिकायतकर्ता नरेश ने बताया कि इस कॉलर ने भी फाइल का रिओपन करने के लिए 2200 रुपये मांगे। इस राशि को भी उन्होंने गूगल पे कर दिया। इसके बाद मांगने पर 10700 रुपये की राशि भी उन्होंने भेज दी। इसके बाद एसआईजी करके पीपीएफ फाइल में एपोइटंमेंट लेटर भेज दिया। फिर इसके बाद एसआईजी के नाम पर पैसे लेने शुरू कर दिए। शिकायतकर्ता ने बताया कि इस तरह से धीरे-धीरे करके उनसे 13 से 14 लाख रुपये की राशि ले ली गई। उधर, पांवटा साहिब के डीएसपी रमाकांत ठाकुर ने मामले की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि शिकायत के आधार पर पुरूवाला पुलिस थाना में आईपीसी की धारा 420 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। मामले में पुलिस जांच कर रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है