Covid-19 Update

56,978
मामले (हिमाचल)
55,383
मरीज ठीक हुए
955
मौत
10,579,053
मामले (भारत)
95,675,630
मामले (दुनिया)

#Shimla: कारोबारी के घर से रेस्क्यू की नाबालिग, बड़े Human Trafficking रैकेट की आशंका

उमंग फाउंडेशन के अध्यक्ष ने सरकार से मामले की गहनता से मांगी जांच

#Shimla: कारोबारी के घर से रेस्क्यू की नाबालिग, बड़े Human Trafficking रैकेट की आशंका

- Advertisement -

शिमला। पुलिस (Police) ने टूटू के एक कारोबारी के घर से 15 साल की नाबालिग लड़की (Minor Girl) को छुड़ाया है। यह नाबालिग घरेलू नौकर की तरह काम कर रही थी और यही नहीं नाबालिग की बुरी तरह पिटाई की जाती थी। उमंग फाउंडेशन ने जानकारी मिलने के बाद शिमला पुलिस की मदद से लड़की को रेस्क्यू किया। वहीं, उमंग फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रो. अजय श्रीवास्तव (Chairman of Umang Foundation Prof. Ajay Srivastava) ने इसे साधारण मामला ना बताते हुए मानव तस्करी का बड़ा रैकेट होने की आशंका जताई है। सरकार से मामले की गहन जांच की मांग की है।

यह भी पढ़ें: पुलिस ने मानव तस्करों से 19 #Nepali बच्चों को मुक्त कराया, महिला समेत 4 गिरफ्तार

उमंग फाउंडेशन के अध्यक्ष अजय श्रीवास्तव ने बताया कि उन्हें किसी ने आज फोन कर इस बात की जानकारी दी। बताया गया कि टूटू में लगभग एक वर्ष से नाबालिग लड़की को घर में गुलामों की तरह रखा गया है। उसकी बुरी तरह पिटाई की जाती है। सूचना मिलने पर उन्होंने तुरंत एसपी शिमला मोहित चावला (SP Shimla Mohit Chawla) से बात की और बच्ची को रेस्क्यू करने के लिए कहा।

यह भी पढ़ें: Himachal: होटल में चल रहे देह व्यापार का भंडाफोड़, पांच लड़कियां कीं रेस्क्यू, आरोपी Arrest

एसपी शिमला मोहित चावला ने तुरंत कार्रवाई करते हुए कुछ घंटों के भीतर ही उस प्रभावशाली व्यक्ति के घर पर छापा डलवाया और बच्ची को रेस्क्यू कर लिया गया। ऐसा लगता है कि बच्ची मध्य प्रदेश के किसी जिले की रहने वाली है। पुलिस अब उसका कोविड (Covid) टेस्ट कराने के बाद उसे कल जुवेनाइल जस्टिस कोर्ट में पेश करेगी। अजय श्रीवास्तव ने कहा कि यह कोई साधारण मामला नहीं है, बल्कि इसके पीछे मानव तस्करी (Human Trafficking) का बड़ा रैकेट हो सकता है। उन्होंने सीएम से मांग की है कि इस समूचे मामले को मानव तस्करी के दृष्टिकोण से देखा जाए, ताकि असली अपराधियों का पता चल सके। उन्होंने कहा कि पहले भी हिमाचल में नाबालिग लड़कियां मानव तस्करी के जरिए लाई जाती रही हैं, लेकिन आम तौर पर पुलिस उन्हें साधारण अपराध मानकर कार्रवाई करती है।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है