Covid-19 Update

2,18,314
मामले (हिमाचल)
2,12,899
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,678,119
मामले (भारत)
232,488,605
मामले (दुनिया)

हिमाचल में पीसमील वर्करों की हड़ताल खत्म, मंत्री ने दिया अनुबंध का आश्वासन

17 अगस्त से टूल डाउन हड़ताल पर थे परिवहन निगम के कर्मचारी

हिमाचल में पीसमील वर्करों की हड़ताल खत्म, मंत्री ने दिया अनुबंध का आश्वासन

- Advertisement -

शिमला। पीसमील वर्करों (Peace Meal Worker) ने अपनी टूल डाउन हड़ताल खत्म कर दी है। परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर (Transport Minister Bikram Singh Thakur) से आश्वासन मिलने के बाद वर्करों ने अपनी हड़ताल खत्म की। मंगलवार को युनियन के पदाधिकारियों ने मंत्री बिक्रम ठाकुर से मुलाकात की थी। जिसके बाद मंत्री ने पदाधिकारियों को तीन सप्ताह के भीतर अनुबंध पर लाने का आश्वासन दिया।

950 मील वर्कर कार्यरत

मंत्री से आश्वासन मिलने के बाद पीसमील वर्कर काम पर लौट गए। मालमू हो कि परिवहन निगम में 950 पीसमील वर्कर कार्यरत हैं। ये सभी कर्मचारी करीब पिछले सात सालों से अपनी सेवाएं दे रहे हैं। उन्हें सरकार की तरफ से हर बार पॉलिसी या अनुबंध पर लाने की बात कही जाती है। लेकिन सिर्फ आश्वासन ही दिया जाता। इस बार यूनियन के पदाधिकारियों ने काम बंद करने का फैसला लिया था।

यह भी पढ़ें: Exclusive: एचआरटीसी हुई बेलगाम-पचास फीसदी की शर्त दरकिनार, डेढ़ सौ फीसदी सवारियां भरकर जा रही बस

निगम को लाखों का घाटा

वर्करों के हड़ताल पर रहने से परिवहन निगम प्रबंधन को लाखों रुपए का घाटा हुआ। खराब बसें विभिन्न वर्कशॉप में खड़ी रह गईं। कई रूटों पर बसों का परिचालन प्रभावित (Bus Route) हुए। सरकार ने इन वर्करों को अनुबंध पर लाने का आश्वासन दिया है। पीसमील वर्कर के महासचिव हरि कृष्ण (Hari Krishan) ने कहा कि मंत्री के आश्वासन के बाद हड़ताल खत्म कर दी है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में खाई में गिरने से बची बस, मौके पर मची रही चीखो-पुकार

26 अगस्त का दिया था नोटिस

पीसमील वर्कर 17 अगस्त से हड़ताल पर चल रहे थे। उन्होंने निगम प्रबंधन को 26 अगस्त तक का नोटिस दिया था। इससे पहले परिवहन मंत्री बिक्रम ठाकुर ने इनकी मांगे पूरी करने का आश्वासन दिया है। हिमाचल में परिवहन निगम की 28 वर्कशॉप में बसों की मरम्मत का जिम्मा इन वर्करों पर है। एचआरटीसी संयुक्त समन्वय समिति के सचिव खमेंद्र गुप्ता और वरिष्ठ पदाधिकारी राजेंद्र ठाकुर ने बताया कि पूर्व में करीब 400 पीस मील वर्करों को अनुबंध पर लेकर तीन साल बाद नियमित किया गया है।

माचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है