Covid-19 Update

3,12, 308
मामले (हिमाचल)
3, 07, 991
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,606,460
मामले (भारत)
625,796,026
मामले (दुनिया)

मनाली के सोलंग में गुस्साए ग्रामीणों ने बीच नदी झूला पुल पर बंधक बनाए PWD के कर्मचारी

अस्थायी पुल टूटने से ग्रमीणों में था गुस्सा, पुल का निरीक्षण करने आए थे कर्मचारी

मनाली के सोलंग में गुस्साए ग्रामीणों ने बीच नदी झूला पुल पर बंधक बनाए PWD के कर्मचारी

- Advertisement -

कुल्लू। मनाली (Manali) के सोलंग नाला में बीते रोज हुई घटना के बाद ग्रामीणों का गुस्सा सातवें आसमान पर है। ग्रामीणों के इस गुस्से का प्रकोप मंगलवार को पीडब्ल्यूडी के कर्मचारियों (PWD Employees) पर निकाला। गुस्साए ग्रामीणों ने झूला पुल की स्थिति देखने आए लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों को झूले पर ही बंधक बना लिया।  बताया जा रहा है कि काफी समय बाद जब पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और उन्होंने लोगों को शांत करवाया। जिसके बाद भी ग्रामीणों ने झुले पर बंधक बनाए पीडब्ल्यूडी के कर्मचारियों को नीचे उतरने से पहले जूतों की माला पहना कर उनका स्वागत किया।

 

 

इस दौरान उन्होंने जमकर नारेबाजी (Protest) भी की। लोगों के गुस्से और स्थिति को बिगड़ता देख कर मनाली प्रशासन ने तुरंत मौके के लिए पुलिस टीम भेजी। लेकिन लोग पुलिस द्वारा समझाने के बाद भी मानने को तैयार नहीं हो रहे थे। काफी प्रयास के बाद लोगों का गुस्सा शांत हुआ। बता दें कि बीते रोज सोलंग गांव को जोड़ने के लिए बनाए गए अस्थायी लकड़ी के पुल (Temporary bridge Collapse) के टूट जाने से गांव के दो किशोर बह गए थे, जिनके आज शव बरामद हुए। इस घटना के बाद लोगों में भारी आक्रोश था।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: सोलंगनाला में बहे दोनों शव बरामद, सोमवार को हुआ था हादसा

इसी बीच मंगलवार को मंगलवार को जब लोक निर्माण विभाग के दो अधिकारी पुल के निर्माण कार्य का जायजा लेने के लिए यहां पहुंचे तो उन्हें लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा। इन कर्मचारियों को देख कर ग्रामीणों ने जमकर नारेबाजी की। वहीं जब विभाग के यह अधिकारी झूला पुल (Jhula bridge) (रज्जू मार्ग) से नदी पार करने लगे तो गुस्साए ग्रामिणों ने उनके झूले को बीच नदी में रोक दिया। इससे अधिकारी बीच नदी के ऊपर फंस गए।

लोगों का आरोप है कि गांव को जोड़ने के लिए बनाया जा रहा पुल 8 वर्ष में भी बनकर तैयार नहीं हो पाया। ऐसे में जान जोखिम में डालकर लोगों को अस्थायी पुल से नदी पार करनी पड़ती है। इसी का नतीजा है कि बीते रोज दो किशोरों की मौत हो गई। ग्रामीण संबंधित विभागीय के अधिकारियों को तुरंत प्रभाव से निलंबित करने की मांग कर रहे थे। घटना की जानकारी मिलते ही एसडीएम मनाली (SDM Manali) डॉ. सुरेंद्र ठाकुर भी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों से चर्चा कर उन्हें शांत करवाया। उसके बाद ही दोनों अधिकारियों को झूले से उतारा गया। वहीं एसडीएम मनाली ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि बुधवार को डीसी कुल्लू आशुतोष गर्ग मौके का निरीक्षण करेंगे। इस दौरान ग्रामीणों के साथ वार्ता की जाएगी और उनकी समस्या का जल्द समाधान किया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है