×

‘धवाला की ज्वाला’ :BJP विधायक बोले-डेढ़ लाख सैलरी लेकर काम नहीं करना भी भ्रष्टाचार

कहा-मेरी सरकार में नहीं हुआ कोई भ्रष्टाचार, होता तो बेनकाब कर दूंगा

‘धवाला की ज्वाला’ :BJP विधायक बोले-डेढ़ लाख सैलरी लेकर काम नहीं करना भी भ्रष्टाचार

- Advertisement -

शिमला। बीजेपी विधायक रमेश धवाला (Ramesh Dhawala) का अपना ही रूबाब है। अपनी ही सरकार को आए दिन घेर लेते हैं। बजट सत्र (Budget Session) में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है। इस बीच आज फिर से सरकार को घेरते हुए रमेश धवाला (Ramesh Dhawala) ने फिर से तीखे शब्दबाण छोड़े। रमेश धवाला ने बजट चर्चा (Budget Discussion)में कहा कि वैसे तो उनकी सरकार में भ्रष्टाचार (Corruption) नहीं है, मगर हुआ तो वो उसे बेनकाब कर देंगे। उन्होंने कहा कि सरकार में रहते हुए डेढ़ लाख रुपए महीने की सैलरी लेकर काम नहीं करना भी भ्रष्टाचार (Corruption) है और इस भ्रष्टाचार को सहन नहीं किया जाएगा।


यह भी पढ़ें: जयराम बोले- कांग्रेस के पास सोच -समझ की कमी, हिमाचल में रिपीट करेगी बीजेपी

इसलिए अधिकारियों को चाहिए कि सरकार जो नीतियां बना रही हैं उनको धरातल तक पहुंचाएं और गरीब लोगों को इनका लाभ दिलाए। रमेश धवाला ने कहा कि सरकार ने बजट (Budget) में 65 से 69 वर्ष की महिलाओं को एक हजार रुपए पेंशन की व्यवस्था की है,परंतु जो साधन संपन्न लोग हैं उनकी महिलाओं को इस पेंशन की क्या जरूरत है। ये पेंशन गरीब महिलाओं के लिए होनी चाहिए। रमेश धवाला (Ramesh Dhawala) ने स्कूलों को क्लब करने की बात कही तो वहीं कहा कि अधिकारियों की फिजूलखर्ची पर भी लगाम लगाई जानी चाहिए।


रमेश धवाला ने कहा कि अधिकारियों की गाड़ियों की माइलेज भी फिक्स हो। रमेश धवाला ने कहा कि एचआरटीसी (HRTC) में ही 100 से ज्यादा आरएम हैं, जबकि ड्राइवर व कंडक्टरों की जरूरत है तो वो कम हैं। उनका कहना था कि वित्तायोग (Finance Commission) का पैसा गांव में खर्च हो रहा है। मनरेगा से भी काम दिखाई दे रहे हैं। बड़े पैमाने पर ये काम हो रहे हैं, जिससे गांव (Village) का विकास हो रहा है, मगर इन योजनाओं की मॉनिटरिंग करने की जरूरत है जिसे अधिकारियों को सुनिश्चित बनाना चाहिए। सरकार की नीतियां कागजों में नहीं रहनी चाहिए बल्कि अधिकारी जनता के बीच उनको जागरूक करें।

सोमवार दो बजे तक के लिए विधानसभा स्थगित

विधानसभा बजट सत्र (Budget Session) अब 15 मार्च सोमवार को दोपहर दो बजे से शुरू होगा। हालांकि शुक्रवार यानी 12 मार्च को भी सदन की कार्यवाही चलनी थी, लेकिन वीरवार को शिवरात्रि, शनिवार और रविवार दो दिन की छुट्टी (Holiday) होने के चलते सत्र को सोमवार तक के लिए स्थगित (Assembly Adjourned) कर दिया गया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक विधानसभा की एडवाइजरी कमेटी की सिफारिश के बाद ऐसा निर्णय लिया गया। ऐसे में अब 12 मार्च का पूरा बिजनेस 15 मार्च के बिजनेस में शामिल किया जाएगा। उसी दिन सीएम जयराम ठाकुर बजट पर चर्चा का जवाब भी देंगे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है