Covid-19 Update

2,21,826
मामले (हिमाचल)
2,16,750
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,108,996
मामले (भारत)
242,470,657
मामले (दुनिया)

हिमाचल: बच्चों को भी लगेगी वैक्सीन, सेंट्रल ड्रग्स लैबोरेटरी कसौली ने पहली डोज को दी मंजूरी

सीडीएल से लगभग 1.35 लाख डोज का पहला बैच रिलीज, 12 साल से ऊपर वालों को लगेगी ये वैक्सीन

हिमाचल: बच्चों को भी लगेगी वैक्सीन, सेंट्रल ड्रग्स लैबोरेटरी कसौली ने पहली डोज को दी मंजूरी

- Advertisement -

शिमला। देश दुनिया में फैली कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर से बच्चों को बचाने के लिए वैक्सीन का इंतजार अब खत्म हो गया है। तीसरी लहर से पहले इस वैक्सीन के आने से लोगों ने राहत की सांस ली है। जायडस कैडिला कंपनी की स्वदेशी वैक्सीन जायकॉव-डी को मान्यता देने वाली सेंट्रल ड्रग्स लैबोरेटरी (सीडीएल) कसौली ने मंजूरी दे दी है। यह बच्चों के लिए पहला और कुल तीसरा भारतीय टीका होगा। मंजूरी मिलने के बाद अब कंपनी डीएनए आधारित वैक्सीन को मार्केट में उतारेगी।

यह भी पढ़ें:Corona Update: हिमाचल में आज 67 लोग पॉजिटिव, 153 हुए ठीक; जाने डिटेल

12 और इससे अधिक उम्र के लोगों को लगेगी जायकॉव-डी

बता दें कि बीते दिनों वैक्सीन के चार बैच लैब में पहुंचे थे। परीक्षण के बाद सीडीएल कसौली से लगभग 1.35 लाख डोज का पहला बैच रिलीज कर दिया है। दूसरे चरण के लिए अन्य बैच पर परीक्षण शुरू हो गया है। खास बात यह है कि जायकॉव-डी वैक्सीन 12 साल और इससे ज्यादा उम्र के बच्चों समेत सभी आयु वर्ग पर कारगर होगी। सीडीएल कसौली ने बाकायदा अपनी वेबसाइट में इसकी पुष्टि की है। जायकोव-डी डीएनए आधारित वैक्सीन है। इसमें कोरोना वायरस का जेनेटिक कोड है जो टीका लगवाने वाले के शरीर में इम्यून सिस्टम को सक्रिय करता है। यह तीन डोज वाला टीका है। पहली डोज लेने के 28वें दिन दूसरी और 56वें दिन तीसरी डोज लेनी होगी।

कंपनी ने चार बैच भेजे थे सीडीएल कसौली

इससे पहले जायडस कैडिला कंपनी सीडीएल कसौली में क्लीनिकल ट्रायल के लिए बैच लगातार भेज रही थी। यह बैच परीक्षण में खरे उतरे, जिसके बाद कंपनी ने ड्रग्स कंट्रोलर जरनल ऑफ इंडियासे वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मांगी। मंजूरी के बाद कंपनी ने वैक्सीन बाजार में उतारने के लिए चार बैच सीडीएल भेजे थे। जहां से अब पहले बैच को मंजूरी मिली है और कंपनी अब वैक्सीन को बढ़ाकर लगातार बैच जांच के लिए भेजेगी। उल्लेखनीय है कि भारत में दो स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन, कोविशील्ड समेत रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-बी को सीडीएल कसौली ने मान्यता दी है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है