×

इस वित्त वर्ष जनजातीय क्षेत्र उप-योजना के अंतर्गत 711 करोड़ रुपये का प्रावधान

इस वित्त वर्ष जनजातीय क्षेत्र उप-योजना के अंतर्गत 711 करोड़ रुपये का प्रावधान

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश सरकार राज्य के जनजातीय क्षेत्रों (Tribal Areas) के विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान कर रही है। जनजातीय क्षेत्र उप योजना के अंतर्गत वर्तमान वित्त वर्ष के बजट में 711 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है, यह गत वर्ष के बजट आवंटन से 72 करोड़ रुपये अधिक है। यह बात सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai ram Thakur) ने आज यहां जनजातीय विकास विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। सीएम ने कहा कि जनजातीय उप-योजना के अंतर्गत नियमित राज्य बजट के अतिरिक्त संविधान के अनुच्छेद 275 (1) के तहत केंद्रीय जनजातीय मामले मंत्रालय द्वारा 34.74 करोड़ रुपये आवंटन किया गया है। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त केंद्रीय गृह मंत्रालय(Union Ministry of Home Affairs) द्वारा सीमा क्षेत्र विकास कार्यक्रम के अंतर्गत 15.45 करोड़ रुपये प्रदान किए गए हैं।


यह भी पढ़ें: Vikramaditya बोले- पहले हो चुके शिलान्यासों पर पट्टिका लगा रही जयराम सरकार

किन्नौर में बदले जाएंगे पुराने बिजली के खंभे

जयराम ठाकुर ने कहा कि जनजातीय क्षेत्रों में विद्यार्थियों को बेहतरीन शिक्षा सुविधाएं प्रदान करने के लिए जिला किन्नौर (Kinnaur) में एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय स्थापित किया गया है और शैक्षणिक सत्र 2019-20 से भरमौर के खणी, लाहुल के बारिंग और पांगी (Pangi) के कवास में तीन अन्य आदर्श विद्यालय शुरू किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इन विद्यालयों के उचित प्रबंधन के लिए हिमाचल प्रदेश एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय प्रबंधन समिति पंजीकृत की गई है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय जनजातीय मामले मंत्रालय ने इन विद्यालयों के भवन निर्माण के लिए 33.36 करोड़ रुपये प्रदान किए हैं। सीएम ने कहा कि जिला किन्नौर में वोल्टेज की समस्या और बिजली की सुचारू आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए बिजली के सभी पुराने खंभों और ट्रांसफार्मर स्तरोन्नयन किए जाएंगे व आवश्यकता होने पर बदले जाएंगे। जयराम ठाकुर ने कहा कि पांगी और भरमौर (Bharmour) क्षेत्र में बिजली की समस्या को समाप्त करने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएं। उन्होंने कहा कि 11केवी गुलाबगढ़ त्यागी लाइन को संसारी नाला से जोड़ने के लिए 20 लाख रुपये का प्रस्ताव मंजूर किया गया है। उन्होंने कहा कि भरमौर क्षेत्र में सुचारू जल आपूर्ति के लिए सभी 33 पेयजल योजनाओं का सुधार और उचित रख-रखाव किया जाना चाहिए।

 

अटल टनल के उत्तरी और दक्षिणी छोर पर हेलीपैड का प्रावधान

सीएम ने कहा कि जनजातीय क्षेत्रों में लोगों को उनके घर के समीप बेहतर स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए क्षेत्रीय अस्पताल केलंग, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र काजा और पांगी में टेली मेडिसिन सेवाएं आरंभ की गई है। जयराम ठाकुर ने कहा कि जनजातीय क्षेत्रों में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं और अटल टनल (Atal Tunnel), लाहुल घाटी के लिए वरदान साबित होगी। उन्होंने कहा कि पर्यटकों की सुविधा और लोगों को आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए हेली टैक्सी सेवा के अतिरिक्त अटल टनल के उत्तरी और दक्षिणी छोर पर हेलीपैड का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए रास्ते के किनारे भी सुविधाएं विकसित की जाएंगी।जनजातीय विकास मंत्री डॉ. रामलाल मार्कंडेय ने जनजातीय क्षेत्रों का विकास सुनिश्चित करने के लिए धन का समुचित प्रावधान करने के लिए सीएम का धन्यवाद किया। उन्होंने सीएम से जनजातीय क्षेत्रों से संबंधित विभिन्न परियोजनाओं की लंबित वन स्वीकृतियों में शीघ्रता लाने का आग्रह किया। प्रधान सचिव जनजातीय विकास ओंकार चंद शर्मा ने सीएम का स्वागत किया तथा जनजातीय क्षेत्रों में क्रियान्वित की जा रही विकासात्मक परियोजनाओं की विस्तृत जानकारी दी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group.

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है