×

भारत में ‘प्लाज्मा थेरेपी’ से होगा कोरोना संक्रमितों का इलाज, ICMR ने दी मंजूरी

भारत में ‘प्लाज्मा थेरेपी’ से होगा कोरोना संक्रमितों का इलाज, ICMR ने दी मंजूरी

- Advertisement -

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ने दुनिया भर में कोहराम मचा रखा है। इस महामारी ने अब तक लाखों लोगों की जान ले ली है। दुनिया भर के विशेषज्ञ, वैज्ञानिक और डॉक्टर इसका सफल इलाज ढूंढने में जुटे हुए हैं। इसी क्रम में श्री चित्रा तिरुनल इंस्टीट्यूट फॉर मेडिकल साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी (SCTIMST) और इंस्टीट्यूशन ऑफ नेशनल इंपोर्टेंस ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी ने इस जानलेवा वायरस से पीड़ित रोगियों को ज्यादा कारगर इलाज देने के लिए एक नया तरीक खोजा है।


यह भी पढ़ें: J&K : कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों में मुठभेड़, जारी है गोलीबारी

इस नई तकनीक को ‘प्लाज्मा थेरेपी’ कहा जाता है। उपचार के इस नए तरीके में रोगी से ठीक हुए एक शख्स के इम्यून सिस्टम (रोग प्रतिरोधक) की क्षमता के जरिए बीमार शख्स का इलाज किया जाता है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने भारत में इस तरीके से उपचार के लिए SCTIMST को मंजूरी दे दी है। SCTIMST की निदेशक डॉ आशा किशोर ने कहा कि हमने भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल (DCGI) को ब्लड डोनेशन के मानदंडों में छूट की अनुमति के लिए आवेदन दिया है।

क्या हैप्लाज्मा थेरेपी

इस उपचार प्रणाली में नए मरीजों के खून में पुराने ठीक हो चुके मरीज का खून डालकर उसके प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर बीमारी से लड़ने के लिए एंटीबॉडी तैयार किया जाता है। एंटीबॉडी के जरिए शरीर में वायरस की पहचान होती है। इसके बाद मानव शरीर में पाए जाने वाले श्वेत रक्त कोशिकाएं ऐसे वायरस को शरीर के भीतर ही मार देती है जिससे शरीर को संक्रमण से छुटकारा मिल जाता है। एंटीबॉडी संक्रमण के लिए फ्रंट-लाइन प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया में सबसे अहम भूमिका निभाता है। ये विशेष प्रकार के प्रोटीन होते हैं जिन्हें बी लिम्फोसाइट्स नामक प्रतिरक्षा कोशिकाएं शरीर में निकालती हैं। जब ये एक शरीर पर हमला करने वाले वायरस का सामना करते हैं तो प्रतिरक्षा प्रणाली एंटीबॉडी को डिजाइन करती है जो प्रत्येक हमलावर वायरस को नष्ट करने लगते हैं जिससे संक्रमण मुक्त हो जाता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है