Covid-19 Update

2,17,140
मामले (हिमाचल)
2,11,871
मरीज ठीक हुए
3,637
मौत
33,501,851
मामले (भारत)
229,513,714
मामले (दुनिया)

दंगों वाली Delhi: हालात संभालने के लिए स्पेशल कमिश्नर तैनात, CBSE की परीक्षाएं स्थगित; 13 की मौत

दंगों वाली Delhi: हालात संभालने के लिए स्पेशल कमिश्नर तैनात, CBSE की परीक्षाएं स्थगित; 13 की मौत

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में रविवार को हुई CAA समर्थकों और विरोधियों की भिड़ंत के बाद से भड़की हिंसा (Violence) अभी तक जारी है। इस पूरे उपद्रव में अब तक कुल 13 लोगों की जान जा चुकी है, जिसमें हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल भी शामिल हैं। वहीं करीब 200 लोग आपस में और पुलिस से भिड़कर घायल हुए हैं। 

CBSE की परीक्षाएं स्थगित

सीएए विरोधी व समर्थकों में हो रही हिंसा के बीच आईपीएस अधिकारी एस.एन. श्रीवास्तव को तत्काल प्रभाव से दिल्ली पुलिस में स्पेशल कमिश्नर (कानून-व्यवस्था) नियुक्त किया गया है। गौरतलब है कि दिल्ली हिंसा में अब तक 13 मौतें हो चुकी हैं। इसमें से आठ लोगों की मौत आज हुई है और सोमवार को पांच लोगों की मौत हुई थी। हिंसा से सबसे अधिक प्रभावित मौजपुर सहित कई स्थानों पर धुआं निकलता देखा गया। वहीं, चांद बाग इलाके में ताजा आगजनी की गई। हिंसा प्रभावित इलाकों में कल सभी स्कूल रहेंगे बंद, परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं। दरअसल सीबीएसई ने हिंसा के मद्देनजर उत्तर पूर्वी दिल्ली में 26 फरवरी को होने वाली 10-12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं।

उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश

ऐसे में हिंसक प्रदर्शन वाली 4 जगहों पर कर्फ्यू लगाया गया है। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के नाम पर हो रही हिंसा ने उग्र शक्ल अख्तियार कर ली है। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में पुलिस ने उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश जारी कर दिया है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जाफराबाद में जो महिलाएं प्रदर्शन कर रही थीं, उन्हें हटा दिया गया है। वो रास्ता क्लियर करवा दिया गया है।

इस बीच दिल्ली पुलिस प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हिंसक प्रदर्शन में अब तक 10 लोगों की मौत हुई है। इस हिंसक प्रदर्शन में 56 पुलिसवालों को चोटें लगी हैं। डीसीपी मंदीप सिंह रंधावा ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि अफवाहों पर ध्यान ना दें। डीसीपी ने कहा कि लोगों ने छतों से भी पथराव किया। हिंसा वाले इलाके में भारी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती है। किसी को भी कानून को हाथ में लेने की इजाजत नहीं है। पुलिस के अनुसार हालत अभी काबू में हैं।

उन्होंने बताया कि हिंसा के मामले में 11 FIR दर्ज की गई हैं, वहीं कई लोगों को हिरासत में लिया गया है। उन्हों ने कहा कि पुलिसबल की कमी की बात सही नहीं। हमने CRPF,RAF और SSB को भी तैनात किया है। कुछ इलाकों में आज भी मामले हुए हैं। पुलिस के मुताबिक स्थिति अभी काबू में है, 11 FIR दर्ज की गई है। असामाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।इस मामले को लेकर गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) पिछले 14 घंटों दो बैठकें कर चुके हैं। वहीं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) ने भी विधायकों और अफसरों के साथ आपात बैठक की। वे बाद में शाह के साथ बैठक में भी शामिल हुए।

इसके बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के साथ शांति बहाली की कोशिश के लिए राजघाट पहुंचे। यहां पर दोनों नेताओं ने शांति के लिए यहां प्रार्थना की। राजघाट पर केजरीवाल, मनीष सिसोदिया के साथ आम आदमी पार्टी के कई नेता मौजूद रहे। शांति प्रार्थना के बाद सीएम केजरीवाल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पूरा देश दिल्ली की हिंसा को लेकर चिंतित है। उत्तर पूर्वी दिल्ली में बवाल के बाद जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्क्लेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया है। मौजपुर और ब्रह्मपुरी इलाके में आज (मंगलवार) भी पत्थरबाजी हुई।

उन्होंने कहा कि पिछले दो दिनों की हिंसा को लेकर सरकार चिंतित है। उन्होंने कहा कि इस हिंसा में जान-माल और संपत्ति का नुकसान हुआ है। सीएम ने बताया कि अगर हिंसा बढ़ती है तो इसका असर सब पर पड़ेगा। सीएम ने कहा कि हम सभी गांधी जी के सामने शांति प्रार्थना करने आए थे जो अहिंसा के पुजारी थे। इससे पहले सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा, लगता है दिल्ली में दरिंदे घुस आए हैं। यह हमारी दिल्ली की आम जनता नहीं है।

यह भी पढ़ें: Trump-Modi का साझा ऐलान: दोनों देशों के बीच होगी बड़ी ट्रेड डील, डिफेंस डील फाइनल

प्रशासन ने हिंसा पर काबू पाने के लिए एहतियात के तौर पर पूरे उत्तर पूर्वी जिले में 1 महीने के लिए धारा 144 लागू कर दी है। दिल्ली के हालात को देखते हुए 13 अर्धसैनिक बलों (Paramilitary forces) की कंपनियों को दिल्ली पुलिस की मदद के लिए तैनात किया गया है। वहीं ब्रह्मपुरी, घोंडा, मौजपुर, चांदपुर, करावल नगर में अर्धसैनिक बलों की 37 कंपनियां तैनात करने का फैसला गृह मंत्रालय (home Ministry ने किया है। उत्तर पूर्वी दिल्ली के 12 इलाकों में पुलिस के साथ अर्धसैनिक बलों की तैनाती की जाएगी और उपद्रवियों से निपटा जाएगा।

मंगलवार सुबह भी हालात तनावपूर्ण है। इस बीच खबर मिली है कि सोमवार को हिंसा के बाद मंगलवार को भी भजनपुरा में दो गुटों में पथराव शुरू हो गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक सबसे ज्यादा तनाव जाफराबाद से लेकर विजय पार्क तक है। इस इलाके में सुबह से ही हिंसा की खबरें आ रही हैं। कुल 48 पुलिस कर्मी ओर 98 नागरिकों के घायल होने कि खबरें सामने आई हैं।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है