Covid-19 Update

1,99,197
मामले (हिमाचल)
1,91,732
मरीज ठीक हुए
3,394
मौत
29,627,763
मामले (भारत)
177,191,169
मामले (दुनिया)
×

कृषि विभाग के उपनिदेशक को Office में घुसकर पीटा, 3 आरोपी सरकारी कर्मचारी

कृषि विभाग के उपनिदेशक को Office में घुसकर पीटा, 3 आरोपी सरकारी कर्मचारी

- Advertisement -

नाहन। कर्फ्यू (Curfew) व लॉकडाउन के बीच जिला सिरमौर के मुख्यालय नाहन में कृषि विभाग के उपनिदेशक (Deputy Director of Agriculture Department) से मारपीट का सनसनीखेज मामला सामने आया है। कृषि उपनिदेशक से उनके दफ्तर (Office) में घुसकर चार लोगों ने पर्दे की छड़ों, ट्राफी व हाथों से जमकर मारपीट की। करीब सवा घंटे तक आरोपियों ने डिप्टी डायरेक्टर को बंधक बनाकर रखा। इस मारपीट में उन्हें बुरी तरह लहुलूहान कर दिया। उनके कमीज के सभी बटन तक तोड़ दिए गए। यहां तक कि दफ्तर में जरूरी कागजातों को भी नुकसान पहुंचाया। हालांकि, यह मामला 15 अप्रैल का है, लेकिन इसका पता अब चल पाया है। मामले को पूरी तरह से गोपनीय रखा गया था। ऐसा क्यों किया गया इसका तो पता नहीं चल पाया है। पर आरोपियों की राजनीतिक पहुंच के चलते ऐसा हुआ बताया जा रहा है, हालांकि इसकी पूरी तरह से पुष्टि नहीं हुई है।पुलिस (Police) ने चारों के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। जानकारी के मुताबिक मामला 15 अप्रैल शाम करीब पौने छह बजे का है। पुलिस को सौंपी शिकायत में कृषि उपनिदेशक डॉ. राजेश कौशिक ने कहा कि वह कोविड-19 संक्रमण को लेकर कार्यालय में किसानों, सेवा प्रदाताओं के पक्ष में अनुमति संबंधी पास जारी करने व अन्य कार्य निपटाए जा रहे थे कि चार लोग अचानक उनके दफ्तर में घुसे। इनमें रिटायर्ड कर्मी अतर सिंह, कृषि विभाग के जूनियर इंजीनियर (JE) दीपक चंदेल, पीटीआई शिशुपाल और वन विभाग (Forest Department) में कार्यरत राजेंद्र बब्बी शामिल थे।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में Chemist खांसी और बुखार की दवाई लेने वालों का रखें Record

दफ्तर में इन लोगों ने मारपीट शुरू कर दी।भागने की कोशिश करने पर आरोपियों ने जबरन पकड़ लिया। हाथापाई के साथ साथ आरोपियों ने छड़ों व ट्राफी के साथ उन्हें लहुलूहान कर दिया। आरोपियों ने जान से मारने की धमकियां भी दीं। आरोपी कर्मचारी यूनियनों के नेता भी हैं। आरोप है कि उन्होंने दफ्तर में रखा सारा सामान उथल-पुथल कर दिया। कमरे से महत्वपूर्ण कागजात तक नष्ट हो गए। शाम सवा सात बजे तक मुझे जबरन हिरासत में रखा। इस पर पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद जमानत पर छोड़ दिया। मामले की पुष्टि एसपी अजय कृष्ण शर्मा ने की है।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है