Covid-19 Update

2, 85, 014
मामले (हिमाचल)
2, 80, 820
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,140,068
मामले (भारत)
528,504,980
मामले (दुनिया)

हिमाचल: हर स्वास्थ्य केंद्र को डॉक्टर सहित मिलेंगे तीन कर्मी, नहीं चलेगा कोई जुगाड़ या बहाना

नेताओं का जुगाड़ और बहाने से घर के पास तैनात कर्मियों पर गिरेगी गाज

हिमाचल: हर स्वास्थ्य केंद्र को डॉक्टर सहित मिलेंगे तीन कर्मी, नहीं चलेगा कोई जुगाड़ या बहाना

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल के सभी स्वास्थ्य केंद्रों (Health Centers) में लोगों को अब बेहतर इलाज के साथ साथ अन्य सुविधाएं भी मिलेंगी। हिमाचल सरकार प्रदेश के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में डाक्टर सहित तीन कर्मचारियों का स्टाफ उपलब्ध करवाने जा रहा है। इसमें एक डॉक्टर, एक फार्मासिस्ट और एक नर्स (Doctor, Pharmacist and Nurse ) की तैनाती की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग ने इसका प्रस्ताव तैयार कर प्रदेश सरकार को भेजा है। बताया जा रहा है कि यह फैसला हिमाचल की जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा (Health Facility) मुहैया करवाने के उद्धेश्य से लिया गया है। बता दें कि प्रदेश भर में कई ऐसे सामुदायिक और सिविल अस्पताल हैं, चिकित्सकों सहित अन्य स्टाफ नहीं है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: मेडिकल डिवाइस पार्क के लिए 810 करोड़ के एमओयू साइन, 300 लोगों को मिलेगा रोजगार

वहीं दूसरी तरफ कई स्वास्थ्य संस्थानों में डॉक्टरों और फार्मासिस्टों का अतिरिक्त स्टाफ बैठा है। इनमें कई कर्मचारी ऐसे हैं जिन्होंने नेताओं से जुगाड़ कराकर घर के नजदीक अपनी तैनाती करवा रखी है, जबकि कई कर्मचारियों ने बीमारी का बहाना बनाकर नजदीकी स्टेशन पर प्रतिनियुक्ति ली है। प्रदेश सरकार ने ऐसे स्वास्थ्य कर्मचारियों की सूची मांगी है। बताया जा रहा है कि सरकार के पास लगातार पंचायत प्रतिनिधी स्वास्थ्य संस्थानों में स्टाफ की कमी को पूरा करने की गुहार लगाते रहे हैं। जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग (Health Department) ने इन संस्थानों में स्टाफ (Staff) की कमी को पूरा करने का फैसला लिया है।

यह भी पढ़ें: HPSSC हमीरपुर ने जूनियर ऑफिस अकाउंट्स पोस्ट कोड 886 का रिजल्ट किया घोषित, एक पद रहा खाली

 

स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी (Health Secretary Amitabh Awasthi) ने बताया कि हर स्वास्थ्य केंद्रों में डॉक्टर समेत अन्य कर्मचारियों की तैनाती की जा रही है। विभाग से स्वास्थ्य केंद्रों में स्टाफ ना होने की सूची मांगी गई है। जो कर्मचारी डेपुटेशन में इधर-उधर हैं, उनका भी रिकॉर्ड मांगा गया है। उन्होंने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में स्टाफ ना होने से लोगों को साधारण बीमारी सर्दी, खांसी का उपचार कराने के लिए भी अस्पताल का रूख करना पड़ रहा है। इससे अस्पतालों में मरीजों की भीड़ बढ़ रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है