Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

पहले 18 घंटे का होता था दिन, कैसे 24 घंटे का हुआ-दिलचस्प है पूरा किस्सा

रिसर्च में सामने आया कि हर साल चांद धरती से 3.82 सेंटीमीटर दूर जा रहा है

पहले 18 घंटे का होता था दिन, कैसे 24 घंटे का हुआ-दिलचस्प है पूरा किस्सा

- Advertisement -

क्या आपको पता है कि एक वक्त ऐसा भी था जब दिन में 18 ही घंटे (18 Hours)हुआ करते थे,यानी 18 घंटें के बाद दिन खत्म हो जाता था। हालांकि,इस बात को बहुत कम लोग जानते होंगे,क्योंकि जन्म लेने से लेकर हर किसी ने 24 घंटे (24 Hours)ही सुने हैं। आप हैरान हो रहे होंगे कि क्या ऐसा होता था। जी,ऐसा होता था, दिन लंबे होने के साथ-साथ घंटे 18 से बढ़कर 24 हुए।
एक रिसर्च में ही इस बात का पता चला था कि धरती (Earth)पर हर दिन लंबा होता चला गया, इसका कारण ये बताया गया है कि धरती और चांद की दूरी बढ़ती चली गई। रिसर्च में ही सामने आया है कि हर साल चांद धरती से 3.82 सेंटीमीटर दूर जाता जा रहा है। जिस तरह चांद (Moon)धरती से दूर जा रहा है उस कारण से धरती के प्रति उसका गुरुत्‍वाकर्षण खिंचाव भी कम होता जा रहा है। इसका मतलब है कि धरती के अपनी धुरी पर घूमने की स्‍पीड (Earth’s Rotation)भी कम होती जा रही है। इसी वजह से पहले के मुकाबले दिन लंबे होते चले गए। इस विषय पर एक स्‍टडी की गई थी, जिसमें वैज्ञानिकों ने बताया था कि अब से तकरीबन 1.4 अरब साल पूर्व धरती पर एक दिन यानि दिन और रात को मिलाकर समय 18 घंटे का हुआ करता था। अब यह समय 24 घंटे ये ज्‍यादा हो चुका है।

ये भी पढ़ेः इस जगह इंसानों की खोपड़ी हाथ में लेकर नाचते हैं लोग

वैज्ञानिकों ने अपनी रिसर्च में खुलासा किया था कि अरबों साल पहले धरती के चांद बहुत नज़दीक हुआ करता था। इस वजह से धरती का एक दिन अब के मुकाबले काफी छोटा हुआ करता था। साल दर साल चांद से धरती की दूरी बढ़ती जा रही है और इस वजह से हमारा दिन भी लंबा होता गया। रिसर्च में शामिल शोधकर्ताओं का कहना था कि उन्‍होंने अपनी स्‍टडी में चांद और धरती के इस संबंध को जांचने की कोशिश की है और इसमें कई कॉन्‍प्‍लेक्‍स स्‍टेटिक डाटा को एनालाइज़ किया गया । इस स्‍टडी के द्वारा उन्‍हें अपने सोलर सिस्‍टम के इतिहास और धरती के प्राचीन इतिहास के बारे में जानने का मौका मिला। शोधकर्ताओं (Researchers)की मानें तो सौर मंडल का प्रत्‍येक ग्रह बाकी सभी ग्रहों और अन्‍य चीज़ों से प्रभावित होता है। रिसर्च में ये बात साफ तौर पर कही गई कि पहले चांद और धरती दोनों नज़दीक थे और इस वजह से दिन छोटा हुआ करता था लेकिन अब इनके बीच की दूरी बढ़ गई और लगातार बढ़ती जा रही है जिस वजह से दिन लंबा होता जा रहा है। पहले एक दिन में 18 घंटे हुआ करते थे लेकिन अब 24 घंटे हो गए हैं और ये समयावधि आगे भी और बढ़ सकती है।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है