Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

देश में हर साल #Rabies से मरते हैं लगभग 20 हजार लोग

विश्व रेबीज रोकथाम दिवस पर आयोजित संगोष्ठी में डॉ. देवेंद्र ने दी जानकारी

देश में हर साल #Rabies से मरते हैं लगभग 20 हजार लोग

- Advertisement -

मंडी। रेबीज (#Rabies) से दुनिया भर में हर वर्ष लगभग 70 लाख लोग ग्रसित होते हैं। इनमें से सही जानकारी और इलाज के अभाव में 50 हजार के करीब लोगों की मौत रेबीज से हो जाती है। रेबीज से मरने वालों का आंकड़ा दुनिया भर में सबसे ज्यादा है और केवल भारत में ही रेबीज के कारण मरने वालों की संख्या लगभग 20 हजार है। यह बात सीएमओ मंडी डाक्टर देवेंद्र शर्मा ने शहर के टाउन हॉल में आयोजित जागरुकता संगोष्ठी के दौरान कही। विश्व रेबीज रोकथाम दिवस (World Rabies Prevention Day) के मौके पर सोमवार को शहर के टाउन हॉल में एक जागरुकता संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन नगर परिषद मंडी व स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त तत्वाधान में किया गया। कार्यक्रम में सीएमओ मंडी डाक्टर देवेंद्र शर्मा ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम (Health Department Team) में उपस्थ्ति लोगों को रेबीज के लक्षणों के बारे में विस्तार से बताया व रेबीज से बचने के तरीकों के बारे में भी जागरूक किया गया।


 


 

यह भी पढ़ें: Punjab के लोगों को #Corona से ज्यादा खतरा, 40% लोग ओवरवेट, PGI ने दी ये नसीहत

 

 an example image

 

डॉक्टर देवेंद्र शर्मा ने इस दौरान बताया कि मंडी जिला (Mandi District) में भी रेबीज के मरीजों की संख्या हर वर्ष एक हजार के पास पहुंच जाती है। उन्होंने कहा कि रेबीज में इलाज से ज्यादा लोगों को सावधानी बरतने की आवश्यकता है, लेकिन फिर भी अगर किसी व्यक्ति को कोई जानवर काट लेता है तो उसमें लापरवाही ना बरतते हुए तुरंत चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए। उन्होंने बताया कि जिला में प्राइमरी स्वास्थ्य केंद्रों तक एंटी रेबीज के टीके मौजूद हैं। इसके साथ ही रेबीज की कैटेगरी तीन और चार के मरीजों के लिए जिला में एंटी रेबीज सीरम भी प्रचूर मात्रा में उपलब्ध है जिससे मरीजों का उपचार संभव है। उन्होंने बताया कि यह एक दिमागी बीमारी बन जाती है जिसका समय पर इलाज ना करवाने पर इस बिमारी से मौत भी हो सकती है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group..

 

 an example image

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है