Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,419,405
मामले (भारत)
176,212,172
मामले (दुनिया)
×

उर्दू के मशहूर शायर गुलज़ार देहलवी का Covid-19 से उबरने के 5 दिन बाद निधन

उर्दू के मशहूर शायर गुलज़ार देहलवी का Covid-19 से उबरने के 5 दिन बाद निधन

- Advertisement -

नई दिल्ली। मशहूर शायर और साहित्यकार पद्मश्री आनंद मोहन ज़ुत्शी गुलज़ार देहलवी (Anand Mohan Zutshi Gulzar Dehalvi) (93) का कोविड-19 (Covid-19) से उबरने के 5 दिन बाद शुक्रवार को निधन हो गया। उनका निधन नोएडा स्थित उनके आवास पर हुआ। बीते सात जून को उनकी कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट दोबारा निगेटिव आई थी जिसके बाद उन्हें घर वापस लाया गया। उनके बेटे अनुप ज़ुत्शी ने कहा, ‘7 जून को उनका कोरोना टेस्ट नेगेटिव आया था, हम उन्हें घर ले आए थे, संक्रमण से वह बहुत कमज़ोर हो गए थे, डॉक्टरों को लगता है शायद उन्हें कार्डियक अरेस्ट आया।’ उन्होंने कहा, ‘वह काफी बूढ़े थे और संक्रमण के कारण काफी कमजोर भी हो गए थे। डॉक्टरों का मानना है कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा होगा।’

यह भी पढ़ें: Corona Update: हिमाचल में आज आए 12 नए मामले, 17 लोग हुए ठीक

गुलजार देहलवी को भारत सरकार ने पद्मश्री (Padmashree) से भी सम्मानित किया है। 2009 में उन्हें मीर तकी मीर पुरस्कार भी दिया गया था। 2011 में उनकी रचना कुलियात-ए-गुल्ज़ार प्रकाशित हुई थी। पुरानी दिल्ली के गली कश्मीरियां में 1926 में जन्मे देहलवी भारत सरकार द्वारा 1975 में प्रकाशित पहली उर्दू विज्ञान पत्रिका ‘साइंस की दुनिया’ के संपादक भी रह चुके हैं।


उस सितमगर की मेहरबानी से: गुलज़ार देहलवी

उस सितमगर की मेहरबानी से
दिल उलझता है ज़िंदगानी से

ख़ाक से कितनी सूरतें उभरीं
धुल गए नक़्श कितने पानी से

हम से पूछो तो ज़ुल्म बेहतर है
इन हसीनों की मेहरबानी से
और भी क्या क़यामत आएगी
पूछना है तिरी जवानी से

दिल सुलगता है अश्क बहते हैं
आग बुझती नहीं है पानी से

हसरत-ए-उम्र-ए-जावेदाँ ले कर
जा रहे हैं सरा-ए-फ़ानी से
हाए क्या दौर-ए-ज़िंदगी गुज़रा
वाक़िए हो गए कहानी से

कितनी ख़ुश-फ़हमियों के बुत तोड़े
तू ने गुलज़ार ख़ुश-बयानी से

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है