Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,622
मामले (भारत)
196,707,763
मामले (दुनिया)
×

कांगड़ा: फतेहपुर के इस गांव में देर रात मची चीखो पुकार, कई घर हुए जमींदोज

खड्ड में बह गई दो गाएं, जिला प्रशासन मौके पर पहुंचा पीड़ितों को सुरक्षित स्थान पर दिया आश्रय

कांगड़ा: फतेहपुर के इस गांव में देर रात मची चीखो पुकार, कई घर हुए जमींदोज

- Advertisement -

फतेहपुर। हिमाचल के कांगड़ा जिला के फतेहपुर (Fatehpur) में देर रात उस समय चीखो पुकार मच गई जब भारी बारिश से करीब आधा दर्जन घर जमींदोज हो गए। लोगों की चीखोपुकार सुन आसपास के ग्रामीण भी सहायता को नहीं आ पाए। इसका मुख्य कारण भारी बारिश (Heavy Rain)  थी। हादसा उपमंडल फतेहपुर के तहत ग्राम पंचायत टटवाली में पड़ते गांव नगोह में बीती रात को पेश आया। भारी बारिश होने के कारण अचानक नगोह खड्ड में बाढ़ आ गई। जलस्तर बहुत अधिक बढ़ने से पानी की निकासी ना होने की वजह से पानी साथ लगते गांव नगोह में पहुंच गया। जिसने भारी तबाही मचाई। हालांकि सूचना मिलते ही जिला प्रशासन (District Administration) मौके पर पहुंचा और लोगों को सुरक्षित स्थान पर आश्रय दिया।

यह भी पढ़ें: हमीरपुर में बारिश का कहरः भूस्खलन से कई मार्ग बंद, जलभराव से घरों को खतरा

 


 

 

नगोह गांव के बाशिंदे पूरी रात नहीं सो पाए।  बताया जा रहा है कि नगोह में आधा दर्जन घर भारी बारिश के चलते जमींदोज हो गए हैं। जिसमें महिंद्र सिंह, गुरियाल सिंह,राजिंदर सिंह, सुभाष कुमार, शंकर सिंह, बलवीर सिंह, प्रेम सिंह, जगत राम के कच्चे घर पूरी तरह से नष्ट हो गए हैं। इन लोगों के घरों से कुछ ही सामान बाहर निकाला जा सका तथा अन्य मलबे में दब गया है। इसी तरह से ज्ञान, बाबू राम, महंगा, सुरेंद्र, अमीचन्द आदि लोगों की पशुशालाएं गिर गई हैं।

यह भी पढ़ें: घरों-दुकानों में घुसा बारिश का पानी तो प्रशासन के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग

 

बीती रात को हुई भारी बारिश के कारण उफान पर आई खड्ड दो गायों (Cow) को बहा कर ले गई, वहीं एक मौके पर मरी मिली है। बताया जा रहा है कि पानी की चपेट में आने से 100 साल पुराना कुआं मिट्टी से भर चुका है। इसके साथ लगती आंगनबाड़ी केंद्र के अंदर रखा हुआ खाने पीने का सामान भी पूरी तरह से खराब हो चुका है और कीचड़ से पूरी तरह से भर चुका है। भारी बारिश से लोगों की फसलें तबाह हो गई हैं और खड्ड किनारे की भूमि कटाव भी काफी हुआ है। लोगों ने प्रशासन से राहत की गुहार लगाई है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है