Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

Virbhadra Singh ने जयराम ठाकुर को लिखा पत्र, आखिर क्या है मामला-जानिए

Virbhadra Singh ने जयराम ठाकुर को लिखा पत्र, आखिर क्या है मामला-जानिए

- Advertisement -

शिमला। पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh) ने राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की वजह से फंसे जनजातीय क्षेत्रों के लोगों की समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए इसके निराकरण और इन्हें इनके घर पहुंचाने के लिए सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) को एक पत्र लिखा हैं। पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह ने कहा है कि जनजातीय क्षेत्रों के किसानों व बागवानों को अपना बागवानी व कृषि कार्य करने का बहुत थोड़ा समय ही मिल पाता है। बर्फबारी की वजह से यह क्षेत्र शेष हिमाचल से पूरी तरह कट जाता है, जबकि यहां के लोगों की आय का मुख्य साधन एकमात्र यही है। जनजातीय क्षेत्रों के लोग लॉकडाउन की बजह से अपने इन जनजातीय क्षेत्रों में अपने घर नहीं जा पा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: Kangra अस्पताल में इलाज करवाने आई महिला की मौत, कोरोना जांच को लिए सैंपल

वीरभद्र सिंह ने पत्र में लिखा है कि ठंड के दिनों में जनजातीय क्षेत्र के अधिकतर लोग प्रदेश के निचले क्षेत्रों में आ जाते है और मार्च, अप्रैल में वापस अपने घरों की ओर रुख करते हैं। चंबा जिला के पांगी, भरमौर के लोग कांगड़ा जिला में, लाहुल स्पीति के लोग कुल्लू और किन्नौर के लोग शिमला और सोलन आ जाते हैं। इन क्षेत्रों के बच्चे प्रदेश के निचले क्षेत्रों के साथ-साथ चंडीगढ़, दिल्ली व जालंधर व देश के अन्य शहरों में शिक्षा दीक्षा के लिए जाते हैं। लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से यह लोग इन जगहों में अभी तक फंसे पड़े हैं। उन्होंने कहा है कि देश में 22 मार्च से चला लॉकडाउन अभी 3 मई तक निर्धारित है। आगे क्या स्थिति बनती है कुछ नहीं कहा जा सकता। इसलिए इन लोगों को अपनी खेती की चिंता सता रही है।


यह भी पढ़ें: Kota से वापस पहुंचे Himachali Students,ऊना व बिलासपुर में होंगे Quarantine

वीरभद्र सिंह ने सीएम जयराम ठाकुर से इन लोगों को उनके घर पहुंचाने के लिए परिवहन निगम की विशेष बसों को प्रबंध करने और इन्हें लाने की विशेष व्यवस्था करने को कहा है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश के अन्य लोग जो भी अन्य राज्यों में लॉकडाउन की वजह से फंसे पड़े हैं, उन्हें भी सुरक्षित उनके घर पहुंचाने की तुरंत कोई सरकारी व्यवस्था की जानी चाहिए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है