Covid-19 Update

2,67,577
मामले (हिमाचल)
2, 53, 840
मरीज ठीक हुए
3961*
मौत
40,858,241
मामले (भारत)
370,456,718
मामले (दुनिया)

राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ यूथ होस्टल्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने

राज्यपाल ने की नई दिल्ली में वाईएचएआई की राष्ट्रीय परिषद् की बैठक की अध्यक्षता

राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ यूथ होस्टल्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर (Governor Rajendra Vishwanath Arlekar) ने रविवार को नई दिल्ली में यूथ होस्टल्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (वाईएचएआई) की राष्ट्रीय परिषद् की बैठक की अध्यक्षता की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि वाईएचएआई एक वैश्विक युवा संगठन है। उन्होंने कहा कि भारत एक युवा राष्ट्र है और यह हमारा कर्त्तव्य बनता है कि युवाओं की ऊर्जा का उपयोग सकारात्मक और रचनात्मक तरीकें से करें। इस दौरान राज्यपाल को सर्वसम्मति से एसोसिएशन का अध्यक्ष चुना गया। इस अवसर पर उन्होंने देश के विभिन्न भागों से आए वाईएचएआई के सदस्यों द्वारा उन पर विश्वास व्यक्त करने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि निर्विरोध चुने जाने पर वह सम्मानित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने राष्ट्रीय संगठन का 11 वर्षों से नेतृत्व करने के लिए वाईएचएआई के निवर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहम्मद शफी पंडित की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने सभी बाधाओं के बावजूद एसोसिएशन का मार्गदर्शन किया।

यह भी पढ़ें: एम्स में बोले जेपी नड्डा, छोटे राज्य ने कर दिखाया बड़ा काम, मनसुख मंडाविया ने भी की तारीफ

 

 

राज्यपाल ने कहा कि गोवा के वन मंत्री रहते हुए उन्होंने गोवा में एक पक्षी महोत्सव का आयोजन किया था। उन्होंने यह जानकारी भी प्राप्त हुई थी कि वाईएचएआई द्वारा प्रकृति और पर्यावरण से संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। उन्होंने वाईएचएआई द्वारा विभिन्न प्रकार के आयोजनों के लिए सराहना करते हुए कहा कि उन्हें पर्यावरण संरक्षण से संबंधित कार्यक्रमों का भी आयोजन करना चाहिए। उन्होंने नए पदाधिकारियों से अनछुए क्षेत्रों में नए कार्यक्रम संचालित करने का आग्रह किया।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: संपूर्ण रूप से धर्मशाला में स्थापित हो CU, जदरांगल में किया अनुष्ठान

राज्यपाल आर्लेकर ने कहा कि संगठन में शक्ति होती है और शक्ति से सफलता हासिल होती है। उन्होंने कहा कि एक साथ संगठित होना शुरुआत हैए साथ रहना प्रगति है और एक साथ काम करने से सफलता प्राप्त होती है। उन्होंने सुझाव दिया कि वाइएचएआई को मौजूदा गतिविधियों के अलावा युवाओं को प्रकृति से जोड़ने के प्रयास करने चाहिए। उन्होंने कहा कि युवा नेतृत्व और प्रकृति दोनों के मध्य सांमजस्य होना अति आवश्यक हैं। उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर सफलता की ओर आगे बढ़ रहे हैं और हमें युवाओं के विचारों को आगे बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि उनके अध्यक्ष के रूप में चुने जाने के साथ ही अब उन्हें इस एसोसिएशन को और आगे बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने सदस्यों से कहा कि शिमला के साथ.साथ दिल्ली और गोवा में भी उनका स्वागत है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है