Covid-19 Update

2,00,043
मामले (हिमाचल)
1,93,428
मरीज ठीक हुए
3,413
मौत
29,821,028
मामले (भारत)
178,386,378
मामले (दुनिया)
×

किसान आंदोलन: #Himachal में भड़की कृषि बिल के विरोध की ज्वाला, प्रदर्शन के साथ नारेबाजी

बिलासपुर और सोलन में सड़कों पर उतरे लोग, बोला हल्ला, कहा: बिल पूंजीपतियों के हक में

किसान आंदोलन: #Himachal में भड़की कृषि बिल के विरोध की ज्वाला, प्रदर्शन के साथ नारेबाजी

- Advertisement -

शिमला। देश की राजधानी दिल्ली में केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि बिलों पर विशाल किसान आंदोलन किया जा रहा है। जिसकी तपिश हिमाचल में भी पहुंच रही है। हिमाचल के किसान (Himachal farmers) भी इस आंदोलन के समर्थन में उतर आए हैं। शनिवार को हिमाचल के कई जिलों में किसानों ने कृषि आंदोलन के विरोध में विभिन्न किसान संगठनों के बैनर तले कृषि बिल (Agricultural bill) का विरोध किया और जमकर नारेबाजी की। राजधानी शिमला में किसान सभा और सीटू ने केंद्र सरकार द्वारा लगाए गए कृषि बिल के विरोध में धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी का पुतला जलाया गया।

केंद्र के तानाशाही फैसले किसानों को करेंगे समाप्त

 


 

यह भी पढ़ें: #Farmer’s_Protest: किसानों की सरकार से बैठक बेनतीजा रहने के बाद, दिल्ली यात्रा करने वालों को ये पढ़ लेना चाहिए

सोलन। हिमाचल के सोलन जिला में डीसी कार्यालय सोलन एवं पुराने बस अड्डे पर आज भारी संख्या में इकट्ठे हुए किसानों ने कृषि बिलों के विरोध में एवं किसान आंदोलन के समर्थन में प्रदर्शन किया। किसान नेताओं का कहना है केंद्र की सरकार (Center Govt) किसानों को ऐसे तानाशाही वाले फैसलों से समाप्त करना चाहती है। किसान नेता नीतिश ठाकुर ने बताया कि वह कृषि बिलों के विरोध में है व दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के पक्ष में है। उन्होंने कहा कि अभी हिमाचल से करीब 200 किसान दिल्ली गए हैं। यदि समय रहते केंद्र सरकार ना मानी तो हिमाचल के किसान भी दिल्ली के लिए कूच कर जाएंगे।

बिलासपुर में अखिल भारतीय किसान सभा ने नरेंद्र मोदी का फुंका पुतला

 

बिलासपुर। केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई किसान विरोधी ज्वाला अब बिलासपुर (Bilaspur) में भी भड़क उठी है। शनिवार को बिलासपुर मुख्यालय में अखिल भारतीय किसान सभा ने केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन (Protest) किया। नगर के लक्ष्मी नारायण मंदिर में किसानों ने एकत्रित होकर चंपा पार्क तक विरोध रैली निकाली। साथ ही उन्होंने मोदी सरकार मुदार्बाद सहित किसान विरोध बिल को वापिस लेने की मांग उठाई। नगर के चंपा पार्क में एकत्रित होकर उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार जबरदस्ती किसानों पर यह बिल थोप रही है, जबकि किसान इन बिलों से बिल्कुल भी खुश नहीं है। सरकार को किसानों के साथ बातचीत करके यह बिल पास करना चाहिए, क्योंकि अंततः यह बिल किसानों पर ही लागू होने है। इस अवसर पर उन्होंने देश के पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का पुतला जलाकर केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। उन्होंने कहा कि जब तक केंद्र सरकार इन बिलों को वापिस नहीं लेती है तब तक अखिल किसान सभा बिलासपुर पंजाब के किसानों के साथ कंधा से कंधा मिलाकर खड़ी है।

मंडी के धर्मपुर में किसानों के समर्थन में प्रदर्शन

 

धर्मपुर (मंडी)। हिमाचल किसान सभा धर्मपुर खण्ड कमेटी ने मोदी सरकार द्धारा पारित किए गए तीन किसान विरोधी कृषि कानूनों के विरोध में पिछले दस दिनों से दिल्ली में किसानों द्धारा किये जा रहे विरोध के समर्थन में आज धर्मपुर में प्रदर्शन किया। किसान सभा के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने धर्मपुर बाज़ार में रैली निकाली और मोदी सरकार के ख़िलाफ़ जोरदार नारेबाज़ी की और एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना दिया और पीएम मोदी को एक मांगपत्र भेजा। इस मौके पर ज़िला परिषद सदस्य भूपेंद्र सिंह ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने कृषि क्षेत्र को पूंजीपतियों और बड़ी निजी कम्पनियों के हवाले करने के लिए तीन किसान विरोधी क़ानून संसद में अपने संख्या बल के आधार पर पारित कर दिए हैं। जिसका देश भर के किसान विरोध कर रहे हैं और दस दिनों से दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। हम किसानों के संघर्ष औऱ जज़्बे को सलाम करते हैं जो इस कड़ाके की ठंड में रात दिन सड़को पर डटे हुए हैं।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है