Covid-19 Update

3,12, 188
मामले (हिमाचल)
3, 07, 820
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,583,360
मामले (भारत)
622,055,597
मामले (दुनिया)

अजीबोगरीब परंपराः परिवार में सदस्य की मौत पर महिलाओं की काटी जाती है अंगुली

इंडोनेशिया की एक आदिवासी दानी जाति में निभाई जाती है दर्दनाक परंपरा

अजीबोगरीब परंपराः परिवार में सदस्य की मौत पर महिलाओं की काटी जाती है अंगुली

- Advertisement -

हम आपको पहले भी दुनिया (World) की कई परंपराओं के बारे में बात चुके हैं। इसी कड़ी में हम एक और परंपर को लेकर आए, जिसे पढ़कर आप चौंक जाएंगे। यह परंपरा इंडोनेशिया (Indonesia) की एक दानी आदिवासी जनजाति की है। हो सकता है कि आपको ये परंपरा ठीक भी नहीं लगे, लेकिन वहां इसे सही माना जा रहा है। दरअसल, उस जनजाति में परिवार के किसी के मर जाने पर परिवार की महिलाओं के हाथ की अंगुली (Finger) का ऊपर वाला हिस्सा काट दिया जाता है। आप भी सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा कैसे किया जा सकता है और यहां के लोग ऐसा क्यों करते हैं।

यह भी पढ़ें: दो बहनों ने किए ऐसे कारनामे, सोशल मीडिया पर हो रहे उनके टैलेंट के चर्चे

क्या है ये परंपरा

यह परंपरा काफी अजीबोगरीब है, क्योंकि इस परंपरा में महिलाओं को एक दर्दनाक स्थिति से गुजरना पड़ता है। दरअसल, डेलीमेल (Dailymail) की रिपोर्ट के अनुसार, जब किसी इस जनजाति में किसी परिवार के सदस्य की मौत हो जाती है तो इस परिवार की महिलाओं को इस परंपरा का सामना करना पड़ता है, जो काफी दर्दनाक है। किसी व्यक्ति की मौत के बाद इस परिवार की महिलाओं की एक उंगली काट दी जाती है। जी हां, व्यक्ति के मौत के बाद महिलाओं के उंगली के ऊपरी हिस्से को काट दिया जाता है। इस वजह से कई महिलाओं की तो कई उंगलियां कटी हुई है। ये काफी दर्दनाक होता है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, जब यह रस्म निभाई जाती है, उससे पहले महिलाओं की उंगली को रस्सी से बांध दिया जाता है, ताकि उसमें खून का सर्कुलेशन ना हो। फिर उसे कुल्हाड़ी के जरिए काटकर अलग कर दिया जाता है। कहा जाता है कि उंगली को या तो जला दिया जाता है या फिर उसे कहीं रख दिया जाता है। कुल्हाड़ी से उंगली काटना काफी दर्दनाक होता है। बताया जाता है कि यह परंपरा अपने पैतृक की आत्मा को शांति देने के लिए निभाई जाती है। हालांकि, कहा जाता है कि अब ये परंपरा कम हो गई है और सरकार ने भी इसे लेकर कदम उठाए हैं।

क्यों परिधान रहता है चर्चा मेंघ्

इस जनजाति के कपड़े इसलिए चर्चा में रहते हैं, क्योंकि यहां महिलाएं और पुरुष दोनों कमर से ऊपर कुछ नहीं पहनते हैं। यानी महिलाएं भी अर्द्धनग्न स्थिति में घूमती हैं और रहती हैं। यहां महिलाओं के कपड़े ना पहनना आम है। वहींए पुरुष कमर से नीचे ष्कोटेका नाम का एक परिधान पहनते हैं, जिससे सिर्फ लिंग को कवर किया जाता है और यह एक पाइप की तरह होता है। इसके अलावा पुरुष शरीर में और कुछ नहीं पहनते हैं। इसके अलावा महिलाएं कमर के नीचे हाथ से बने स्कर्ट पहनती हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है