×

हिमाचल में छह माह बाद खुली ITI, 50% स्टाफ और छात्रों को बुलाया, एंट्री पर हुई Thermal Screening

50-50 फीसदी के रोटेशन में बुलाए जाएंगे छात्र

हिमाचल में छह माह बाद खुली ITI, 50% स्टाफ और छात्रों को बुलाया, एंट्री पर हुई Thermal Screening

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश में छह महीने के बाद गुरुवार यानी आज से औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) खुल गईं। पहले दिन 50% स्टाफ और बच्चों को बुलाया गया। इस दौरान सुरक्षा का पूरा ध्यान भी रखा गया। प्रवेश द्वार पर थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही सभी को अंदर जाने दिया गया।


यह भी पढ़ें: पहली से आठवीं के Online Exam कल से होंगे शुरू, 4.93 लाख विद्यार्थी देंगे फर्स्ट टर्म परीक्षाएं

 

तकनीकी शिक्षा विभाग ने इसको लेकर बुधवार को एसओपी (SOP) जारी कर दी गई थी कि छात्र 50-50 फीसदी के रोटेशन में आईटीआई (ITI) आएंगे। छह माह बाद खुले औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में आज प्रथम और द्वितीय वर्ष के ऐसे छात्र पहुुंचे जिनका इस साल कोर्स पूरा होना है, ताकि इनका प्रशिक्षण (Training) पूरा हो सके। वहीं, नवंबर के पहले सप्ताह में इनकी परीक्षाएं प्रस्तावित की गई हैं। इसके साथ ही ऐसे छात्र जिनका दो साल का कोर्स हैं वह 10 अक्टूबर से आईटीआई आएंगे। 10 अक्टूबर से 10 नवंबर तक इनकी ट्रेनिंग होगी। इसके बाद इन्हें अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। इनकी परीक्षाएं दिसंबर में प्रस्तावित की गई है।

 

हालांकि सभी आईटीआई प्रधानाचार्यों को शारीरिक दूरी के नियमों की पालना के लिए दो से तीन शिफ्टों में भी छात्रों को बुलाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही आईटीआई में सारे इंस्ट्रक्टर को ड्यूटी पर माजूद रहने को कहा गया है। वहीं गैर शिक्षक कर्मचारियों को 50-50 फीसदी के हिसाब से संस्थानों में बुलाया जाएगा। तकनीकी शिक्षा विभाग के निदेशक विवेक चंदेल की ओर से एसओपी का सर्कुलर सभी आईटीआई को भेज दिया है।

औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में इन नियमों का होगा सख्ती से पालन

किसी भी संस्थान में छात्रों का प्रवेश थर्मल स्कैनिंग (Thermal Scanning) के बाद ही होगा। क्लासरूम, लैब सहित कैंपस में जगह जगह हैंड सैनेटाइजर और साबून की व्यवस्था करनी होगी। इसके अलावा रोजाना क्लासरूम को सैनेटाइज किया जाएगा। छात्रों की हाजरी बायोमीट्रिक मशीनों के बजाए रजिस्टर पर लगाई जाएगी। शारीरिक दूरी के नियमों की पालना के लिए एक साथ बच्चों को बुलाने के बजाए बैच में बुलाया जाएगा। किस दिन कितने शिक्षकों को बुलाना है इसका निर्धारण प्रधानाचार्य करेंगे। हॉस्टल, लैब और क्लासरूम तीनों ही स्थानों पर शारीरिक दूरी के नियमों का सख्ती से पालना करना होगा। सर्दी जुकाम जैसे लक्षणों वाले छात्रों को संस्थान में नहीं बुलाया जाएगा। आईटीआई में बाहरी लोगों के आने पर पूणर्त प्रतिबंध रहेगा, यदि जरूरी हुआ तो इसके लिए प्रधानाचार्य की अनुमति लेनी होगी। क्लास रूम में बैठने की व्यवस्था इस तरह से तैयार करनी होगी ताकि शारीरिक दूरी के नियमों की पालना हो सके।

 an example image

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

an example image [/img

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है