×

गजब! इस अनोखे पेड़ पर एक-दो नहीं, लगते हैं 40 तरह के अलग-अलग फल

अमेरिका में एक विजुअल आर्ट्स के प्रोफेसर ने तैयार किया है पेड़

गजब! इस अनोखे पेड़ पर एक-दो नहीं, लगते हैं 40 तरह के अलग-अलग फल

- Advertisement -

दुनिया में कई तरह के पेड़-पौधे हैं। हर पेड़-पौधे की अपनी एक अलग खासियत होती है। सभी अपने-अपने फल-फूल के लिए जाने जाते हैं। आपने कभी कोई ऐसा पेड़ देखा है जिस पर एक नहीं बल्कि 40 तरह के अलग-अलग फल लगते हों। आज हम आपको ऐसे ही एक पेड़ के बारे में बताने जा रहे हैं। यह अनोखा पेड़ ‘ट्री ऑफ 40’ नाम से जाना जाता है जिसे अमेरिका में एक विजुअल आर्ट्स के प्रोफेसर (Professor of Visual Arts) ने तैयार किया है। इसकी खासियत यह है कि इसमें बेर, खुबानी, चेरी, सतालू, और नेक्टराइन जैसे कई स्वादिष्ट फल लगते हैं।
 
अमेरिका स्थित सेराक्यूज यूनिवर्सिटी में विजुअल आर्ट्स के प्रोफेसर सैम वॉन ऐकेन इस अनोखे पेड़ के जनक हैं। इस विशेष पेड़ को विकसित करने के लिए उन्होंने वैज्ञानिक तकनीक (Scientific technique) का सहारा लिया है। उन्होंने इस काम की शुरुआत 2008 में की थी। उन्होंने न्यूयॉर्क राज्य कृषि प्रयोग में एक बगीचे को देखा। जिसमें लगभग 200 तरह के बेर और खुबानी के पौधे लगे थे। यह बगीचा उस वक़्त फंड की कमी की वजह से बंद होने वाला था, जिसमें कई पुराने और दुर्लभ किस्म के पौधों की प्रजातियां भी शामिल थीं।

19 लाख रुपए है ‘ट्री ऑफ 40’ की कीमत

प्रोफेसर वॉन खेतीबाड़ी वाले परिवार से संबंध रखते हैं इसलिए उन्हें भी खेतीबाड़ी में अच्छी-खासी दिलचस्पी थी। अपने इसी शौक के चलते प्रोफेसर वॉन ने इस बगीचे को लीज पर ले लिया और ग्राफ्टिंग तकनीक की मदद से उन्होंने ‘ट्री ऑफ 40’ जैसे अद्भुत पेड़ को उगाने में कामयाब रहें। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि ‘ट्री ऑफ 40’ की कीमत करीब 19 लाख रुपए है। ग्राफ्टिंग तकनीक में पौधा तैयार करने के लिए सर्दियों में पेड़ की एक टहनी कली समेत काटकर अलग कर ली जाती है। इसके बाद इस टहनी को मुख्य पेड़ में छेद करके रौप दिया जाता है।


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है