Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,563,421
मामले (भारत)
230,985,679
मामले (दुनिया)

Doda में सुरक्षाबलों ने ढेर किए हिज्बुल के दो आतंकी, Encounter में एक जवान शहीद

Doda में सुरक्षाबलों ने ढेर किए हिज्बुल के दो आतंकी, Encounter में एक जवान शहीद

- Advertisement -

जम्मू। कोरोना संकट के बीच भारतीय सेना आतंकवाद से भी डट कर लड़ रही है। रविवार सुबह से जम्मू-कश्मीर के डोडा (Doda) में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रही है। यहां पर सेना ने हिज्बुल मुजाहिद्दीन के दो-तीन आतंकियों का घेराव कर रखा है। इस मुठभेड़ (Encounter) में एक जवान शहीद हो गया है वहीं दो आतंकियों के मारे जाने की भी सूचना है। माना जा रहा है कि जिन आतंकियों के साथ सेना की मुठभेड़ हो रही है उनमें से एक आतंकी कश्मीर का है। ऑपरेशन को सेना की 10 आरआर, सीआरपीएफ और डोडा पुलिस द्वारा अंजाम दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: घर लौट रहे पैदल मजदूरों को रोका तो फूटा गुस्सा, Saharanpur-Ambala Highway जाम

 

सेना को आतंकवादियों के छिपे होने की मिली थी सूचना

सेना और आतंकियों के बीच ये मुठभेड़ डोडा के गुंडाना इलाके में हो रही है। जिस स्थान पर यह मुठभेड़ हो रही है वहां पर हिज्बुल मजाहिद्दीन (Hizbul Mazahiddin) के दो आतंकवादी छिपे हुए हैं। बताया जा रहा है ति जब सेना को डोडा के गांव खोत्री धारा में आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना मिली तो उन्होंने त्वरित कार्रवाई करते हुए आतंकवादियों के छिपे ठिकाने को घेरकर उन्हें आत्मसमर्पण करने के लिए चेताया। आतंकवादियों (Terrorists) ने इसे अनसुना करते हुए सेना पर फायरिंग शुरू कर दी। सेना भी आतंकवादियों की इस जवाबी कार्रवाई का मुंहतोड़ जवाब दे रही है। इसी बीच सेना का एक जवान शहीद हुआ है। दोनों ओर से जोरदार गोलीबारी हो रही है। सेना ने पूरे इलाके को घेर लिया है और आतंकियों की फायरिंग का माकूल जवाब दे रही है। आतंकी घरों की आड़ लेकर छिपे हुए हैं।

 

डोडा में इस महीने की शुरुआत में हिज्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकवादियों को गिरफ्तार (Arrest) किया गया था। 7 मई को डोडा जिले से ही हिज्बुल मुजाहिदीन (Hizbul Mujahideen) का 22 साल का एक सदस्य को गिरफ्तार किया गया था। उसके पास से एक पिस्तौल और एक वायरलेस सेट बरामद किया गया था। इससे पहले पांच मई को सुरक्षाबलों ने हिज्बुल के टॉप कमांडर रियाज नायकू को कश्मीर में मौत के घाट उतार दिया था। 32 वर्षीय नायकू के सिर पर 12 लाख रुपए का इनाम था और कश्मीर में हिज्बुल मुजाहिदीन की कमान संभालने के बाद वह भारत के लिए एक अहम निशाना था।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है