Covid-19 Update

2,16,430
मामले (हिमाचल)
2,11,215
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,380,438
मामले (भारत)
227,512,079
मामले (दुनिया)

Manipur को मिला वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट, PM Modi बोले – नॉर्थ ईस्ट की बहनों के लिए रक्षाबंधन का तोहफा

Manipur को मिला वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट, PM Modi बोले – नॉर्थ ईस्ट की बहनों के लिए रक्षाबंधन का तोहफा

- Advertisement -

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने रक्षाबंधन से पहले मणिपुर को एक नई सौगात दी। हर घर जल मिशन के तहत आज यहां पर वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट (Water supply project) की आधारशिला रखी गई। पीएम मोदी ने इस प्रोजेक्ट को रक्षा बंधन के मौके पर बहनों के लिए तोहफा बताया। पीएम मोदी ने कहा कि नॉर्थ ईस्ट के लोगों को लोकल पर गर्व होता है, जब मैं वहां का गमछा पहनता हूं तो लोगों को गर्व होता है। बंबू के क्षेत्र में भी नॉर्थ ईस्ट को लाभ होगा, जो राज्य एक्टिव होगा उसे काफी फायदा होने वाला है। केंद्र की ओर से राज्य सरकार को लगातार मदद की जा रही है, राज्य सरकार कोरोना से निपटने में लगी हुई है। राज्य में करीब 25 लाख लोगों को मुफ्त अनाज मिला है, डेढ़ लाख से अधिक महिलाओं को मुफ्त गैस सिलेंडर (Free gas cylinder) मिला है। रोज एक लाख पानी के कनेक्शन दिए जा रहे हैं। पीएम ने भरोसा जताया कि पूर्वोत्तर में बाढ़ प्रभावित राज्यों को केंद्र की ओर से लगातार मदद की जा रही है। उन्होंने कहा कि आज के जल प्रोजेक्ट से सिर्फ आज नहीं बल्कि भविष्य की पीढ़ी को भी फायदा होने वाला है। शुद्ध पानी से सिर्फ प्यास नहीं बुझाएगा, लोगों को स्वस्थ रखने और रोजगार देने में का भी काम करेगा।

 

पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि कोरोना संकट काल में भी देश रुका नहीं है, देश थमा नहीं है और देश थका नहीं है। जबतक वैक्सीन नहीं आती है, हमें मजबूती से लड़ते रहना है।

पिछले साल जब जल जीवन मिशन की शुरुआत हो रही थी, तब मैंने कहा था कि हमें पहले की सरकारों के मुकाबले तेजी से काम करना होगा। हमारा लक्ष्य 15 करोड़ परिवारों तक पानी पहुंचाना था, लॉकडाउन के वक्त में भी गांव-गांव में पाइपलाइन बिछाई गई है। पीएम ने कहा कि सरकार की ओर से नागरिकों को जीवन जीने की अच्छी सुविधाएं देने का काम किया जा रहा है।

 

 

वैज्ञानिकों के मुताबिक, हमारे नॉर्थ ईस्ट में किसान अगर पॉमोलीन की खेती पर चले जाएं तो देश को काफी फायदा होगा। आज पॉमोलीन ऑयल की देश में डिमांड है, ऐसे में राज्य सरकारों को इसकी ओर ध्यान देना चाहिए। इसके लिए योजनाएं बनाई जाए और केंद्र सरकार पूरा सपोर्ट करेगी।

सरकार की ओर से बिजली, सड़कें और रोजगार देने का काम किया जा रहा है, एक साफ पानी की कमी रहती थी जो अब धीरे-धीरे पूरी की जा रही है। आत्मनिर्भर भारत के लिए पूर्वोत्तर का विकास काफी जरूरी है, इससे हमारे पड़ोसी देशों से भी संबंध बेहतर होंगे। सरकार की ओर से कनेक्टविटी को बढ़ाने का काम जरूरी है, पानी कनेक्शन के साथ-साथ गैस पाइपलाइन को बिछाया जा रहा है।

 

 

पूर्वोत्तर के सभी राज्यों की राजधानी को फोर लेन, जिला मुख्यालय को टू लेन और गांवों को ऑल वेदर रोड से जोड़ा जाएगा। इसके लिए तेजी से काम चल रहा है। इसके अलावा रेल कनेक्टविटी को भी काफी तेजी से बढ़ाया गया है। साथ ही पूर्वोत्तर में आज कुल 13 एयरपोर्ट हैं, जिनका विस्तार भी किया जा रहा है। अब सरकार की ओर से नदियों के रास्ते से वाटर-वे बनाए जा रहे हैं।

 

 

इस दौरान अपने संबोधन में राज्य के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह ने कहा कि राज्य सरकार की सिर्फ एक चिट्ठी पर ही पीएमओ ने इस परियोजना को मंजूरी दे दी। केंद्र की ओर से राज्य को लगातार मदद मिल रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है