Covid-19 Update

2,18,693
मामले (हिमाचल)
2,13,338
मरीज ठीक हुए
3,656
मौत
33,697,581
मामले (भारत)
233,301,085
मामले (दुनिया)

दुगनेहडी Garbage plant विवादः NGT के संज्ञान पर प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड की टीम ने किया दौरा

दुगनेहडी Garbage plant विवादः NGT के संज्ञान पर प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड की टीम ने किया दौरा

- Advertisement -

हमीरपुर। नगर परिषद द्वारा बजूरी पंचायत के दुगनेहडी गांव में बनाए गए कूड़ा संयत्र ( Garbage plant)को लेकर चल रहे विवाद में नया मोड़ आया है। बजूरी के बाशिदों की ओर से एनजीटी ( NGT)में शिकायत किए जाने का एनजीटी ने कड़ा संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन से भी जवाब तलब किया है। इसी के चलते प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड शिमला ( Pollution Control Board Shimla) से आई हुई टीम के साथ एडीसी रत्न गौतम, एसडीएम चिंरजी लाल, ईओ केएल ठाकुर ने कूडा संयत्र स्थल का दौरा कर सारी स्थिति का जायजा लिया।

यह भी पढ़ें: आम आदमी की बढ़ेगी चिंता, महंगा होगा दूध और डेरी प्रोडक्ट

गनेहड़ी गांव में नगर परिषद हमीरपुर(Nager parishad hamirpur) द्वारा लगाए कूड़ा सयंत्र का लोगों ने विरोध जताया जा रहा है। हर दिन शहर के ग्यारह वार्डों का हजारों टन कूड़े को संयत्र में फेंकने के साथ जलाया जाता है, जिसका ग्रामीणों ने कुछ दिन पहले कड़ा विरोध जताया था और जिला प्रशासन से समस्या का हल नहीं हो पाने के चलते ग्रामीणों को एनजीटी का दरवाजा खटखटाना पड़ा था। इस पर अब एनजीटी ने संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन को मामले में हस्तक्षेप करने की हिदायत दी है।


लोगों का कहना है कि नगर परिषद द्वारा खुले में कूड़ा जलाने से गांववालों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसी मामले को लेकर बाशिंदों ने एनजीटी में याचिका दायर की थी। लेकिन ग्रामीणों का आरोप है कि जब मामला एनजीटी में चल रहा है फिर भी नगर परिषद ने यहां कूड़े से खाद बनाने की मशीन स्थापित की है, जिसको लेकर ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। ग्रामीणों की माने तो कूड़ा सयंत्र की वजह से स्थानीय निवासियों का जीना मुश्किल हो गया है। दिन-रात बदबू होने से सांस लेने में दिक्कतें पेश आती है। आवारा कुत्तों और चील कौवों की भरमार लगी रहती है । वहीं ग्रामीणों ने बताया कि यहां पर कूड़ा फेंकने से सारी गंदगी खड्ड हथली में पहुंच रही है।इससे पेयजल योजनाएं प्रभावित होती है। ग्रामीणों ने सरकार से गुहार लगाई है कि इस कूड़ा सयंत्र को जल्द से जल्द यहां से उठाया जाए। उधर एडीसी रत्न गौतम ने कहा कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में स्थानीय लोगों द्वारा दुगनेहड़ी में स्थापित कूड़ा सयंत्र को उठाने के लिए याचिका दायर की गई है, जिसके चलते ही मौका स्थल पर टीम ने जायजा लिया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है