Covid-19 Update

2,62,087
मामले (हिमाचल)
2, 42, 589
मरीज ठीक हुए
3927*
मौत
39,543,328
मामले (भारत)
352,920,702
मामले (दुनिया)

यहां मटके जैसे घर क्यों बनाए जा रहे हैं, क्या है इसके पीछे का राज, पढ़ें पूरी कहानी

इटली में थ्री डी प्रिंटिंग के आधार पर डिजाइन किए जा रहे हैं मटके जैसे घर

यहां मटके जैसे घर क्यों बनाए जा रहे हैं, क्या है इसके पीछे का राज, पढ़ें पूरी कहानी

- Advertisement -

नई दिल्ली। मटके की तरह दिखने वाले घरों को इटली के रवेना शहर में बनाया गया है। ये घर थ्री डी प्रिंटेड हैं। जिसे मिट्टी से तैयार किया गया है। यह घर की दशकों पुरानी सभ्यता को दिखाता है। वहीं, इस घर को टेल्का हाउस नाम दिया गया है। इन घरों के एक सेट को मात्र 200 घंटों में थ्री डी प्रिंटिंग तकनीक तैयार किया गया है। इन डोम हाउस में लिविंग रूम, बाथरूम और बेडरूम के साथ कई सुविधाएं दी गई हैं।

यह भी पढ़ें:वैक्‍सीन की दूसरी डोज का लक्ष्य पूरा करने वाला पहला राज्य बना हिमाचल, मनसुख मांडविया ने की घोषणा

बता दें कि डोम हाउस बनाने का आइडिया जाने माने इटली की आर्किटेक मारियो कुसिनेला का है। उन्होंने घर को नई तकनीक और मिट्टी के साथ तालमेल बैठा कर तैयार किया है। मारियो कहते हैं, प्राचीन काल में घरों को मिट्टी से तैयार किया जाता था, लेकिन आज इसे तकनीक के साथ तालमेल बिठाते हुए 3डी प्रिंटिंग की मदद से तैयार किया गया है। उन्होंने काह कि इन घरों में ऐसी लोगों को शरण दी जाएगी जो बेघर हैं या प्राकृतिक आपदा से जूझ रहे हैं या जिनके पास कभी घर ही नहीं रहा। ऐसे लोगों के लिए डोम हाउस का इस्तेमाल किया जाएगा। आर्किटेक्‍ट मारियो का कहना है कि भविष्‍य में ऐसे घरों कम समय में तैयार किया जा सकेगा। यह घर दुनिया के पहले इको हाउस हैं।

आर्किटेक्‍ट मारियो का कहना है, एक घर को 645 वर्ग फुट क्षेत्र में तैयार किया गया है. इसे दो लेयर में बनाया किया गया है। इसमें घर के लिए जरूरी हर सुविधा मिलेगी। मारियो ने कहा कि अगर किसी प्राकृतिक आपदा में यह घर गिर जाते हैं तो इन्‍हें थ्रीडी प्रिंटिंग के जरिए दोबारा तैयार किया जा सकेगा। मारियो का कहना है, ऐसे घर आपदाग्रस्‍त इलाकों के लिए बेहतर विकल्‍प हैं। अगर बाहर का तापमान ज्‍यादा है तो दीवारों की पर्त को मोटा किया जा सकता है। इस प्रोजेक्‍ट को जीरो-कार्बन कंस्‍ट्रक्‍शन की खोज के लिए चुना गया है। इसे भविष्‍य के लिहाज से बेहतर घर बताया गया और इस प्रोजेक्‍ट को क्‍लाइमेट चेंज समिट में भी पेश किया गया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है