Covid-19 Update

2,27,195
मामले (हिमाचल)
2,22,513
मरीज ठीक हुए
3,831
मौत
34,596,776
मामले (भारत)
263,226,798
मामले (दुनिया)

हिमाचल के इस इलाके में मनाई जाती है सास-दामाद दूज, सास को भेंट देकर लेते हैं आशीर्वाद

सिरमौर जिला के गिरिपार की 135 पंचायतों में मनाया जाता है ये त्योहार

हिमाचल के इस इलाके में मनाई जाती है सास-दामाद दूज, सास को भेंट देकर लेते हैं आशीर्वाद

- Advertisement -

राजगढ़। भैया दूज का पर्व पर बहन अपने भाई को टीका कर उनकी मंगल कामना करती है। पर हिमाचल के सिरमौर क्षेत्र के गिरिपार और गिरिआर क्षेत्र में यह पर्व दामाद व सास का मनाया जाता है इसे सास-दामाद दूज के नाम से जाता है। इस पावन पर्व पर दामाद ससुराल जाकर अपनी सास को खीलें, अखरोट, चावल व मिठाई की भेंट देकर आशीर्वाद प्राप्त करते हैं। यूं तो दामाद अपनी ससुराल कभी भी आ-जा सकते हैं परंतु सास-दामाद दूज पर्व पर दामाद का ससुराल में जाने का पच्छाद के गिरिपार और गिरिआर क्षेत्र विशेष महत्व माना जाता है ।

यह भी पढ़ें:भाई-बहन के प्यार का प्रतीक है भाई दूज, इस शुभ मुहूर्त पर लगाएं तिलक

 

 

सिरमौर जिला के गिरिपार की 135 पंचायतों में सास-दामाद दूज पर्व पर दामाद के द्वारा सासू को भेंट देने की अनूठी प्रथा बदलते परिवेश में आज भी कायम हैं। हालांकि अब यह प्रथा कुछ कम होने लगी है। सेना और नौकरी पेशा में होने के कारण जो दामाद भैयादूज पर अपनी सासू को भेंट देने नहीं पहुंच सकते हैं, ऐसे में दामाद गयास पर्व तक कभी भी सास को भेंट दे सकते हैं। गिरिपार और गिरिआर क्षेत्र में मनाई जाने वाली दूज की बात ही अलग है। गिरिपार के साथ लगते सिरमौर के सैनधार इलाके में भी यह परम्परा सदियों से कायम है। नवविवाहिता जोड़ों के अलावा वर्षों पहले शादी कर चुके दामाद भी इस दिन अपनी सास को भेंट देते हैं, हालांकि सास चाहे तो अपने दामाद को हर साल इस परंपरा को ना निभाने की छूट दे सकती है। दिवाली के पंच पर्व पर लोग अपने आराध्य देव की प्रसन्नता के लिए जागरण करते हैं, जिसे स्थानीय भाषा में घैना कहते हैं । जागरण अथवा घैना जागने के बहाने करियाला, ड्रामा का भी आयोजन किया करते थे । अतीत में रामायण धारावाहिक प्रसिद्ध होने पर पूरी रात टीवी अथवा एलईडी पर रामायण दिखाई जाती थी । गिरिपार क्षेत्र में इसे छोटी दिवाली के नाम से जाना जाता है और बड़ी अथवा बूढ़ी दिवाली ठीक एक महीने के बाद अमावस्या को समूचे क्षेत्र में बड़े हर्षोंल्लास के साथ मनाते हैं ।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है